S M L

CRPF 21 हजार जवानों की भर्ती के साथ ही पुराने ट्रेनिंग सिस्टम में करेगी बदलाव

बल के प्रमुख ने बताया कि पुरानी प्रशिक्षण पद्धति की वजह से नए रंगरूटों को आ रही ताउम्र प्रभावित करने वाली चोटों पर चिंतित होते हुए CRPF की ओर से यह फैसला लिया गया है

Updated On: Oct 04, 2018 04:08 PM IST

Bhasha

0
CRPF 21 हजार जवानों की भर्ती के साथ ही पुराने ट्रेनिंग सिस्टम में करेगी बदलाव

CRPF ने तय किया है कि नक्सल और आतंकवाद प्रभावित राज्यों में मुश्किल ड्यूटी के लिए दक्ष और मजबूत सैनिकों को तैयार करने के लिए वह अपनी पुरानी शारीरिक प्रशिक्षण प्रणाली को फिर से 'नया रूप' देगी.

बल के प्रमुख ने बताया कि पुरानी प्रशिक्षण पद्धति की वजह से नए रंगरूटों को आ रही ताउम्र प्रभावित करने वाली चोटों पर चिंतित होते हुए CRPF की ओर से यह फैसला लिया गया है.

करीब तीन लाख कर्मियों वाला यह मजबूत बल कॉन्स्टेबल रैंक पर युवा कर्मियों और असिस्टेंट कमांडेंट रैंक पर अधिकारियों की नियुक्ति करने वाले सबसे बड़े नियोक्ताओं में से एक है. हजारों कैडेट सालभर बल की विभिन्न अकादमियों में प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं.

इस फैसले को अहम माना जा रहा है क्योंकि सरकार ने कुछ महीने पहले ही केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षाबल (BSF) और भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) जैसे केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में सिपाही के रैंक पर बड़े पैमाने पर भर्ती करने के लिए अभियान चलाने की घोषणा की थी. इस अभियान के तहत कुल 54,953 कर्मियों की नियुक्ति की जाएगी. इनमें से अधिकतम 21,566 की भर्ती CRPF करेगी.

बल के महानिदेशक आर.आर भटनागर ने पीटीआई-भाषा को बताया कि भर्ती प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में कर्मियों को चोटिल होते देखने के बाद सी आर पी एफ ने प्रशिक्षण का पुराना तरीका बदलने का निर्णय किया है.

भटनागर ने बताया कि विशेषज्ञों की टीम इस विषय पर काम कर रही है कि किसी रंगरूट पर चोट के कारण 'स्थाई प्रभाव' न पड़े, इसके लिए क्या किया जाना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi