S M L

सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान LOC पार करने वाले भारतीय सैनिक का कोर्ट मार्शल

सूत्रों के मुताबिक सिपाही चंदू को दो महीने 29 दिन की जेल और दो साल की पेंशन में कटौती की गई है

Updated On: Oct 26, 2017 10:53 AM IST

Bhasha

0
सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान LOC पार करने वाले भारतीय सैनिक का कोर्ट मार्शल

पिछले साल सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान गलती से सीमा पार करके पाकिस्तान जाने वाले भारतीय सैनिक को सेना की एक अदालत ने दोषी ठहराया है. सैनिक के लिए तीन महीने जेल की सजा की सिफारिश की गई है.

पाकिस्तान ने जनवरी में सद्भावना दिखाते हुए सैनिक को भारत को सौंप दिया था. पाकिस्तान ने कहा कि सैनिक ने जानबूझकर बॉर्डर पार किया था. चव्हाण को अटारी-बाघा बॉर्डर से वापस भारत लाया गया था.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सेना की अदालत ने चंदू बाबूलाल चव्हाण को तीन महीने कैद की सजा सुनाई है लेकिन सजा की अवधि को उचित अधिकारियों की मंजूरी मिलना अभी बाकी है.

उन्होंने बताया कि सिपाही बाबूलाल चव्हाण के मामले की सुनवाई जनरल कोर्ट मार्शल द्वारा की गई. चव्हाण सजा के खिलाफ अपील कर सकते हैं. उनकी तैनाती 37 राष्ट्रीय राइफल्स में थी.

पिछले साल सितंबर में भारत ने नियंत्रण रेखा पार स्थित आतंकी ठिकानों पर सजिर्कल स्ट्राइक की थी जिसके कुछ घंटों बाद सिपाही कश्मीर में सीमा पार कर गया था.

चव्हाण महाराष्ट्र के धुले के रहने वाले हैं. जब उनके परिवार को उनके पाकिस्तानी आर्मी के कब्जे में होने का पता चला था तो उनकी दादी की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi