S M L

मेट्रो कर्मियों की हड़ताल पर दिल्ली हाईकोर्ट ने बढ़ाई समयावधि

न्यायमूर्ति प्रतिभा रानी ने अगले आदेश तक हड़ताल पर नहीं जाने के लिये कर्मचारियों को निर्देश देने वाले अंतरिम आदेश की समयावधि बढा दी

Bhasha Updated On: Jul 06, 2018 08:55 PM IST

0
मेट्रो कर्मियों की हड़ताल पर दिल्ली हाईकोर्ट ने बढ़ाई समयावधि

दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन(डीएमआरसी) के कर्मचारियों के वेतनमान में संशोधन सहित कई मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने पर रोक के अपने आदेश की समयावधि बढ़ा दी और कहा कि ऐसा होने पर यात्रियों को बहुत असुविधा का सामना करना पड़ेगा.

न्यायमूर्ति प्रतिभा रानी ने अगले आदेश तक हड़ताल पर नहीं जाने के लिये कर्मचारियों को निर्देश देने वाले अंतरिम आदेश की समयावधि बढा दी और डीएमआरसी की ओर से दायर उस याचिका पर उनका जवाब मांगा जिसमें उन्हें हड़ताल पर जाने से रोकने को कहा गया था.

हाईकोर्ट ने 29 जून को एकपक्षीय अंतरिम आदेश में डीएमआरसी कर्मियों के 30 जून से प्रस्तावित हड़ताल पर जाने पर रोक लगा दी थी और कहा था कि इससे यात्रियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ेगा.

अदालत ने डीएमआरसी कर्मचारी परिषद के कुछ पदाधिकारियों को नए नोटिस जारी किए और इस मामले में आगे की सुनवाई के लिये चार सितंबर की तारीख तय की.

अदालत ने डीएमआरसी की ओर से पेश अतिरिक्त सालिसिटर जनरल संदीप सेठी से पूछा कि क्या याचिका अब महत्वहीन हो जाएगी क्योंकि हड़ताल की प्रस्तावित तारीख 30 जून गुजर चुकी है.

एएसजी ने कहा कि याचिका महत्वहीन नहीं हो सकती क्योंकि कर्मचारियों ने तीन नोटिस देकर कहा है कि अगर उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो वे हड़ताल करेंगे. कर्मचारी परिषद के कुछ पदाधिकारियों की ओर से पेश अधिवक्ता राजीव मिश्रा ने अदालत से अनुरोध किया कि डीएमआरसी को हलफनामा देकर यह कहने का निर्देश दिया जाए कि वह पिछले साल नियोजक और कर्मचारियों के बीच निकले समाधान का पालन करेंगे.

अदालत ने कहा कि इस विषय से दलीलों के बाद निपटा जाएगा. पीठ ने छुट्टियों के दौरान अंतरिम आदेश में कहा था कि पहली नजर में, मेट्रो कर्मचारियों की कार्रवाई उचित या कानूनी नजर नहीं आती.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi