S M L

कोर्ट ने पूछा, ‘पुलिस को एक दिन का अवकाश क्यों नहीं मिल सकता?’

जस्टिस ने कहा, ‘कम से कम एक दिन का अवकाश जरूरी है जो उनके और उनके परिवार वालों के लिए मददगार होगा.’

Updated On: Jul 04, 2018 06:23 PM IST

Bhasha

0
कोर्ट ने पूछा, ‘पुलिस को एक दिन का अवकाश क्यों नहीं मिल सकता?’

मद्रास हाईकोर्ट का कहना है कि तमिलनाडु सरकार को हफ्ते में एक दिन पुलिस कर्मियों को अवकाश देने पर विचार करना चाहिए, जैसा कि हर सरकारी कर्मचारी को दिया जाता है. ताकि वह अपने परिवार के साथ समय बिता पाएं.

पुलिस बल शिविर की मौजूदा प्रणाली को समाप्त करने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायामूर्ति एन किरुबाकरन ने कहा, ‘हर सरकारी कर्मचारी को सप्ताह में एक दिन अवकाश मिलता है ताकि वह अपने परिवार वालों के साथ समय बिता पाएं. इसी तरह पुलिस कर्मियों को सप्ताह में एक दिन का अवकाश क्यों नहीं दिया जा सकता?’

उन्होंने पाया, ‘इससे उन्हें खुद को तरोताजा करने में मदद मिलेगी और उनका तनाव कम होगा.’

न्यायमूर्ति ने अतिरिक्त महाधिवक्ता जनरल पी एच अरविंद पांडियन को उच्च अधिकारियों से इस संबंध में सलाह लेने और वह किस तारीख से इन निर्देशों को क्रियान्वित कर सकते हैं इसका उल्लेख करने का आदेश दिया.

सुनवाई के दौरान न्यायाधीश ने पाया कि पुलिसकर्मियों को चौबीस घंटे काम करना पड़ता है. इससे उन्हें और उनके परिवार को तनाव एवं मानसिक पीड़ा का सामना करना पड़ता है.

इसे पुलिस अधिकारियों द्वारा किए विकृत कृत्यों के लिए जिम्मेदार बताते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों के लिए प्रेरक माहौल का निर्माण किया जाना चाहिए जिससे समाज हित में उनका मनोबल बढ़ा रहेगा.

उन्होंने कहा, ‘कम से कम एक दिन का अवकाश जरूरी है जो उनके और उनके परिवार वालों के लिए मददगार होगा.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi