S M L

JK: पुलिसकर्मी ने माता-पिता से मिलने के लिए हुलिया तक बदला, फिर भी आतंकियों से नहीं बच सका

जम्मू कश्मीर पुलिस के उप निरीक्षक इम्तियाज अहमद मीर अपने माता-पिता से मिलने को इस कदर बेताब थे कि उन्होंने अपनी दाढ़ी काट ली और अपना पूरा हुलिया बदल लिया था ताकि आतंकवादियों से बचते-बचाते वह अपने वालिदेन से मिलने जा सकें.

Updated On: Oct 29, 2018 10:14 AM IST

Bhasha

0
JK: पुलिसकर्मी ने माता-पिता से मिलने के लिए हुलिया तक बदला, फिर भी आतंकियों से नहीं बच सका
Loading...

जम्मू कश्मीर पुलिस के उप निरीक्षक इम्तियाज अहमद मीर अपने माता-पिता से मिलने को इस कदर बेताब थे कि उन्होंने अपनी दाढ़ी काट ली और अपना पूरा हुलिया बदल लिया था ताकि आतंकवादियों से बचते-बचाते वह अपने वालिदेन से मिलने जा सकें. लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और आतंकवादियों ने उन्हें पहचान लिया और उनकी हत्या कर दी. मीर के एक सहकर्मी ने यह जानकारी दी.

दक्षिण कश्मीर के आतंकवाद प्रभावित पुलवामा जिले के बाहीबाग में रविवार की सुबह आतंकवादियों ने 30 साल के मीर की गोली मारकर हत्या कर दी. मीर सीआईडी में पदस्थ थे. मीर को उनके गांव में नहीं जाने की चेतावनी दी गई थी, क्योंकि डर था कि आतंकवादी उनपर हमला कर सकते हैं. गौरतलब है कि आतंकवादियों ने हाल में प्रदेश में कई पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया है.

उनके एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'मैंने उससे कहा था कि वह ना जाए क्योंकि आतंकवादी हमला कर सकते हैं. लेकिन वह अपने माता पिता को देखने के लिए बेकरार थे जो पुलवामा जिले के अंदरूनी इलाके में सोनताबाग में रहते हैं.' अधिकारी ने बताया कि मीर ने घर जाने के लिए छुट्टी ली और अपना हुलिया बदल लिया. उन्होंने अपनी दाढ़ी काट ली और अपने पैतृक गांव जाने के लिए अपने व्यक्तिगत वाहन का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया. घर के लिए रवाना होने पहले संभवत: उन्होंने अपने अधिकारी से आखिरी बार कहा था, 'अब वे (आतंकी) मुझे नहीं पहचान पाएंगे.'

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi