S M L

एक ट्वीट दो थैंक्स: लंच की तारीफ का 'तेजस्वी' अंदाज

राहुल गांधी के साथ तेजस्वी यादव के लंच के राजनीतिक मायने भी निकाले जाने लगे हैं

FP Staff Updated On: Nov 17, 2017 09:01 PM IST

0
एक ट्वीट दो थैंक्स: लंच की तारीफ का 'तेजस्वी' अंदाज

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने राहुल गांधी के साथ लंच की तस्वीरें अपने ट्विटर पर साझा की हैं. तस्वीरों के साथ ट्वीट में उन्होंने राहुल गांधी को बेहतरीन लंच के लिए धन्यवाद दिया है. साथ ही आभार जताया कि बेहद टाइट शेड्यूल के बावजूद राहुल गांधी ने उनसे मिलने का समय निकाला. इस ट्वीट को राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल से भी रिट्विट किया गया है.

राहुल गांधी के साथ तेजस्वी यादव की मुलाकात इन मायनों में भी बेहद महत्वपूर्ण है कि हाल ही में आरजेडी में इस बात की डिमांड उठने लगी है कि तेजस्वी ही अगले चुनाव में पार्टी के सीएम उम्मीदवार होंगे. इसके अलावा बीच में इस तरह की भी खबरें उठी थीं कि उन्हें पार्टी अध्यक्ष बनाया जा सकता है लेकिन जल्द ही इन सियासी अफवाहों का पटाक्षेप हो गया. लेकिन तेजस्वी यादव के लिए एक हवा तो राजनीतिक रूप से पार्टी में तैयार हो ही गई है.

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी में भी राहुल को अध्यक्ष बनाने की लंबे समय से चली आ रही मांग एक बार फिर से तेज है. हाल के दिनों में गुजरात चुनाव में प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने अपने तीखे बयानों से लगभग हर दिन मीडिया की सुर्खियां बटोरी हैं. पीएम नरेंद्र मोदी की जबरदस्त लोकप्रियता वाले प्रदेश में लोग राहुल को सुनने के लिए भी इकट्ठा हो रहे हैं. कई राजनीतिक विश्लेषकों ये भी मानना है कि इस बार का गुजरात चुनाव बीजेपी के लिए पिछली बार की तरह फ्री रन जैसा नहीं होने वाला है.

ऐसे में राहुल गांधी की तेजस्वी यादव के साथ ये मुलाकात कई राजनीतिक कयासों को भी जन्म दे रही है. साथ इस ट्वीट में तेजस्वी यादव की भाषा भी ध्यान देने योग्य है. इस ट्वीट में तेजस्वी यादव ने राहुल गांधी के लिए जैसी भाषा इस्तेमाल की है उससे आगे की राजनीतिक तैयारियों का अंदेशा भी लगाया जा सकता है.

जेडीयू-आरजेडी गठबंधन टूटने के बाद तेजस्वी यादव आरजेडी के उभरते सितारे के रूप में और तेजी से सामने आए हैं. जेडीयू के तीखे प्रहारों पर भी तेजस्वी यादव ने जमकर पलटवार किया. लेकिन सीबीआई के फंदे में आए परिवार को नीतीश द्वारा झटके जाने और कांग्रेस से पूरा सहयोग मिलने की पूरी कहानी ये तस्वीरें भी बयान कर रही हैं.

केंद्र में भले ही कांग्रेस पार्टी की सरकार न हो लेकिन देशभर में मौजूद होने के कारण पार्टी की दखल पूरे भारत में तो है ही. ऐसे बिहार में पार्टी के नेता तौर पर मौजूद तेजस्वी यादव भी राहुल के साथ संबंधों को और सुमधुर कर आगे की रणनीति तैयार कर रहे हों, ऐसा सोचने में कोई ज्याद शक-ओ-शुबहा नहीं होना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi