S M L

मोदी का खतरनाक प्रस्ताव सिविल सेवा की मेरिट को खत्म कर देगा: कांग्रेस

अहमद पटेल ने कहा कि इस प्रस्तावित कदम को स्वीकार नहीं किया जा सकता क्योंकि इससे ओबीसी, दलित और आदिवासी पृष्ठभूमि के सफल अभ्यर्थियों को पहले की तरह अवसर नहीं मिल पाएंगे

Updated On: May 21, 2018 02:57 PM IST

Bhasha

0
मोदी का खतरनाक प्रस्ताव सिविल सेवा की मेरिट को खत्म कर देगा: कांग्रेस

यूपीएससी रैंक की बजाय फाउंडेशन कोर्स में नंबरों के आधार पर कैडर आवंटित किए जाने की सरकार की योजना पर कांग्रेस ने आलोचना की है.  कांग्रेस ने  कहा है कि सरकार का यह कदम सिविल सेवा मेरिट को बर्बाद कर देगा.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘मोदी जी एक ऐसा खतरनाक प्रस्ताव सामने लाए हैं जो अखिल भारतीय सिविल सेवा की मेरिट को ही खत्म कर देगा.’

उन्होंने कहा, ‘मोदी का मतलब ‘मेन ऑब्जेक्टिव टू डिस्ट्रॉय इंस्टीट्यूशंस’ है.’

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि इस प्रस्तावित कदम को स्वीकार नहीं किया जा सकता क्योंकि इससे ओबीसी, दलित और आदिवासी पृष्ठभूमि के सफल अभ्यर्थियों को पहले की तरह अवसर नहीं मिल पाएंगे.

पटेल ने सवाल किया कि क्या यह आरक्षण की व्यवस्था को कमजोर करने का एक और प्रयास नहीं है?

क्या थी सरकार की योजना

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) को फाउंडेशन कोर्स के नंबरों के आधार पर चयनित आवेदकों को कैडर देने का सुझाव दिया गया है. अब तक यूपीएससी की परीक्षा में अंकों के आधार पर सफल आवेदकों को कैडर आवंटित किए जाते थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi