S M L

लोकसभा और विधानसभा चुनाव 2024 से एक साथ हों: नीति आयोग

नीति आयोग ने इन सिफारिशों का अध्ययन करने और इस संबंध में मार्च 2018 की ‘समय सीमा’ तय करने के लिए चुनाव आयोग को नोडल एजेंसी बनाने का सुझाव दिया है

Updated On: Aug 27, 2017 08:52 PM IST

Bhasha

0
लोकसभा और विधानसभा चुनाव 2024 से एक साथ हों: नीति आयोग

नीति आयोग ने वर्ष 2024 से लोकसभा और विधानसभाओं के लिए दो चरणों में चुनाव करवाने का समर्थन किया है ताकि चुनाव प्रचार के कारण शासन में कम से कम व्यवधान सुनिश्चत हो सके.

सरकारी थिंक टैंक ने कहा है कि लोकसभा और विधानसभा, दोनों चुनाव एक साथ कराना राष्ट्रीय हित में होगा. इसके साथ ही निकाय ने विशेषज्ञों का एक समूह गठित किए जाने का सुझाव दिया है जो इस संबंध में सिफारिशें करेगा.

आयोग ने कहा, ‘हम 2024 में लोकसभा चुनाव से एक साथ दो चरणों में चुनाव कराने की ओर आगे बढ़ सकते हैं. इसमें अधिकतम एक बार कुछ विधानसभाओं के कार्यकाल में कटौती करनी होगी या कुछ को कार्यकाल विस्तार देना होगा.’

रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रहित में इसे लागू करने के लिए संविधान और इस मामले पर विशेषज्ञों, थिंक टैंक, सरकारी अधिकारियों और विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों सहित पक्षकारों का एक विशेष समूह गठित किया जाना चाहिए जो इसे लागू करने संबंधी सिफारिश करेगा.

चुनाव आयोग को नोडल एजेंसी बनाने का सुझाव

‘तीन वर्ष का कार्य एजेंडा, 2017-2018 से 2019-2020’ शीर्षक वाली इस रिपोर्ट में कहा गया है, ‘इसमें संवैधानिक और वैधानिक संशोधनों के लिए मसौदा तैयार करना, एक साथ चुनाव कराने के लिए संभव कार्ययोजना तैयार करना, पक्षकारों के साथ बातचीत के लिए योजना बनाना और अन्य जानकारियां जुटाना शामिल होगा.’

नीति आयोग ने इन सिफारिशों का अध्ययन करने और इस संबंध में मार्च 2018 की ‘समय सीमा’ तय करने के लिए चुनाव आयोग को नोडल एजेंसी बनाने का सुझाव दिया है.

आयोग की सिफारिशें इसलिए भी महत्वपूर्ण हो गई हैं क्योंकि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ने लोकसभा और विधानसभाओं का चुनाव एक साथ कराने का समर्थन किया है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi