S M L

दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत शीतलहर से कांपा

रविवार को पूरे उत्तर भारत में शीतलहर की दस्तक से लोग ठिठुर गए

Updated On: Dec 25, 2016 08:10 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत शीतलहर से कांपा

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में शीतलहर ने अचानक दस्तक दे दी है. रविवार की सुबह मौसम एकदम बदल गया. रविवार को पूरे उत्तर भारत में मौसम के तापमान में जबरदस्त गिरावट आई. पहाड़ों में बर्फबारी से दिल्ली समेत नॉर्थ इंडिया के मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई और कोहरा छा गया.

रविवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ जो सामान्य से 3 डिग्री ज्यादा है.

दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तरप्रेदश, उत्तराखंड, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के तापमान में जबरदस्त गिरावट दर्ज हुई है. जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में रात का तापमान शून्य से कई डिग्री नीचे चला गया है. रविवार को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 5.5 डिग्री नीचे दर्ज किया गया. वहीं लद्दाख में पारा शून्य से 8.2 डिग्री नीचे चला गया.

अगले 3 दिन तक रहेगी कड़ाके की ठंड 

मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक पूरे उत्तर भारत में भीषण ठंड और कोहरे की भविष्यवाणी की है. दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में रविवार सुबह से कोहरा छाया हुआ है. मौसम के इस बदले रुख से दिल्ली का प्रदूषण स्तर एक बार फिर खतरनाक स्तर पहुंच गया है.

रेल-विमान सेवा पर पड़ा असर

ठंड बढ़ने और घने कोहरे के कारण यातायात सेवा बुरी तरह प्रभावित हो रही है. रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है तो कई ट्रेनों की समय सारणी में बदलाव किया गया है. दिल्ली में कोहरे और धुंध की वजह से विजिबिलिटी कम रहने से 84 ट्रेनें लेट चल रही हैं जबकि 37 ट्रेनों का समय बदला गया.

ट्रेनों के साथ-साथ हवाई उड़ानों पर भी इसका असर पड़ा है. कई इंटरनेशनल और डोमेस्टिक फ्लाइट्स देरी से चल रही हैं तो कई फ्लाइट्स को रद्द कर दिया गया है. 12 उड़ानें देर से चल रही हैं जबकि 7 फ्लाइट दिल्ली देर से पहुंची हैं.

कोहरा जानलेवा साबित हो सकता है

दिल्ली में कोहरा बढ़ने के कारण स्मॉग जैसे हालात फिर से हो गए हैं. हवा में मौजूद प्रदूषित कण जानलेवा भी साबित हो सकते हैं.

मौसम विशेषज्ञ अमित कुमार कहते हैं, ‘पॉल्यूशन के बढ़ने का सबसे बड़ा कारण होता है वातावरण में नमी का मात्रा ज्यादा होना. कम रफ्तार से हवा चलने और इनमें मौजूद प्रदूषित कणों के नमी के साथ मिलने से स्मॉग जैसे हालात बन गए हैं, जिससे सांस की बीमारी से परेशान लोगों की दिक्कतें बढ़ जाती है.’

आने वाले दिनों में प्रदूषण का स्तर बढ़ेगा

दिसंबर में सबसे ज्यादा प्रदूषण का स्तर रविवार को दर्ज किया गया है. मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंसेज के मुताबिक पीएम 2.5 और पीएम 10 जैसे प्रदूषित कणों का स्तर लेवल सामान्य से कई गुना ज्यादा दर्ज हुआ है.

दिल्ली में रविवार को पीएम 2.5 के औसत लेवल लगभग 350 माइक्रो ग्राम क्यूबिक मीटर(एमजीसीएम) दर्ज हुआ है. पीएम 2.5 का सामान्य स्तर 60 एमजीसीएम होता है. जो सामान्य से लगभग 7 गुणा ज्यादा है. पीएम 2.5 का स्तर 223 एमजीसीएम से ज्यादा होना खतरनाक हो जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi