S M L

J&K: विरोध-प्रदर्शन में छात्र न हों शामिल इसलिए 3 महीने तक कोचिंग बंद

राज्य सरकार ने कठुआ मामले को लेकर छात्रों के जारी विरोध-प्रदर्शन को रोकने के लिए यह कदम उठाया है

Updated On: Apr 23, 2018 05:05 PM IST

FP Staff

0
J&K: विरोध-प्रदर्शन में छात्र न हों शामिल इसलिए 3 महीने तक कोचिंग बंद

महबूबा मुफ्ती सरकार ने जम्मू-कश्मीर के सभी कोचिंग सेंटर को अगले 90 दिन तक बंद रखने का निर्देश जारी किया है. शिक्षा मंत्री सैय्यद अल्ताफ बुखारी ने रविवार को इसका ऐलान किया. इसकी औपचारिक अधिसूचना सोमवार यानी आज जारी की गई.

उन्होंने 12वीं क्लास तक के कोचिंग संस्थानों को बंद करने के फैसले को राज्य में शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के प्रयासों से जोड़ा है. लेकिन माना जा रहा है कि सरकार ने छात्रों को विरोध-प्रदर्शनों में शामिल होने से रोकने के लिए ही यह कदम उठाया है.

शनिवार को श्रीनगर के सरकारी शिक्षण संस्थानों के प्रिंसिपल के साथ हुई बैठक के बाद बुखारी ने इसकी घोषणा की. शिक्षा मंत्री ने कहा कि बैठक में घाटी में चल रहे कोचिंग सेंटर की वजह से छात्रों का ध्‍यान भटकने के मुद्दे पर चर्चा हुई. सरकार उन वजहों को जानना चाहती है जिनसे छात्रों का ध्‍यान भटकता है और वो विरोध-प्रदर्शनों में शामिल होते हैं. कोचिंग सेंटर के वजह से छात्र स्कूलों में नहीं आते, कई जगह सुबह 11 बजे तक छात्र कोचिंग सेंटर में ही रहते हैं और उसके बाद वो स्कूल पहुंचते हैं.

बता दें कि पिछले दिनों जम्मू के कठुआ के बकरवाल समुदाय की 8 साल की बच्ची को अगवा करने के बाद रेप कर हत्या कर दी गई थी. इस मामले को लेकर पूरे जम्मू-कश्मीर में छात्र लगातार अपनी कक्षाओं का बहिष्कार कर सड़कों पर उग्र विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. राज्य सरकार ने इन विरोध-प्रदर्शनों पर काबू पाने के लिए शिक्षण संस्थानों को भी बंद रखा, बावजूद इसके छात्रों के विरोध-प्रदर्शन का सिलसिला थम नहीं रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi