विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

यूपी में कांवड़ियों की यही पुकार 'योगी जी' जरा डीजे बजा दो

यूपी सरकार द्वारा बनाए गए नए नियमों के बाद अब हुड़दंगी कांवड़ियों की खैर नहीं

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jul 11, 2017 10:24 PM IST

0
यूपी में कांवड़ियों की यही पुकार 'योगी जी' जरा डीजे बजा दो

यूपी में कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे बजाने पर रोक लगा दी गई है. योगी सरकार का नया फरमान हुड़दंगी कांवड़ियों के लिए आफत बन कर आया है.

वहीं दूसरी तरफ अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद यूपी पुलिस पहले की तुलना में ज्यादा मुस्तैद हो गई है जिससे हुड़दंगी कांवड़ियों के लिए दिक्कत और ज्यादा बढ़ सकती है.

यूपी के गृह विभाग ने कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ियों के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी किए हैं. यूपी के सभी जिलों में अब धारा-144 के तहत निषेधाज्ञा लागू करते हुए डीजे को प्रतिबंधित कर दिया गया है.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा कांवड़ियों पर लिया गया यह एक बड़ा फैसला है. लेकिन अगर यही फैसला अगर  पिछली सरकारों ने लिया होता तो इस पर काफी बवाल मचता. इस निर्णय को लेने में योगी आदित्यनाथ खुद की छवि भी काम आई है.

यूपी पुलिस के एक आईपीएस अधिकारी कहते हैं, ‘हाल के वर्षों में कांवड़ियों के कुछ वर्गों के द्वारा जिस तरह से उत्पात मचाया जा रहा था. एक न एक दिन ये होना ही था. पिछली सरकारों में भी कांवड़ियों को लेकर सख्त रुख अख्तियार करने की बात हुई थी. लेकिन, मामला धर्म से जुड़ा होने के कारण समाजवादी पार्टी की सरकार ने फैसला टाल दिया था.’

उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने कांवड़ियों को हिदायत देते हुए कहा कि इस धार्मिक यात्रा के दौरान कांवड़िये साम्प्रदायिक सद्भाव बनाए रखें और छवि को धूमिल करने वाला कोई आचरण न करें.

kanwar 1

गृह विभाग के प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि कांवड़ यात्रियों को जारी दिशानिर्देश में कहा गया है कि कांवड़ यात्रा एक धार्मिक यात्रा है, इसलिए इस दौरान कोई ऐसा आचरण न करें, जिससे उनकी छवि खराब हो.

मिश्रित आबादी वाले इलाकों से गुजरते समय उत्तेजनात्मक या आपत्तिजनक नारों का प्रयोग न करें और परम्परा से हटकर कोई मार्ग या जुलूस या कार्यक्रम न करें.

कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे बजाने पर पूरी तरह पाबंदी होगी. हालांकि, आदेश प्राप्त करने के बाद नियमों के अनुसार, लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति होगी. रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक लाउड स्पीकर या पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रयोग नहीं किया जाएगा.

कांवड़ यात्रा के संबंध में जो कांवड़ समितियां डीजे के अलावा दूसरे स्पीकरों का प्रयोग करने की अनुमति के लिए आवेदन करना चाहती हैं, उन्हें आवेदन निर्धारित प्रारूप पर देना होगा.

हाल के वर्षों में कांवड़ यात्रा के दौरान कुछ संवेदनशील स्थानों पर कानून-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न होती रही है. इस लिहाज से ये दिशानिर्देश महत्वपूर्ण हैं.

यूपी सरकार ने कांवड़ियों को परिचित समूहों में रहने की सलाह दी है. साथ ही परिचय पत्र साथ रखने के अलावा जरूरी दवाइयां भी साथ रखने के लिए कहा है. सरकार ने कांवड़ियों से यात्रा के दौरान जरूरंतमंद और परेशान लोगों की मदद करने के लिए भी कहा है.

गृह विभाग के प्रवक्ता के अनुसार राज्य के सभी जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों, पुलिस अधीक्षकों यह सुनिश्चित करेंगे कि थाना स्तर पर कांवड़ समिति की गोष्ठियां अवश्य आयोजित हों, जिसमें सम्बन्धित उप जिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी भी मौजूद रहें.

दूसरी तरफ अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमले के बाद यूपी में भी एलर्ट जारी कर दिए गए हैं. इसके बाद से कांवड़ियों को लेकर प्रशासन और सख्त हो गया है. प्रेदश में मंदिरों के शहर अयोध्या, मथुरा और काशी में विशेष सतर्कता बरतने का आदेश जारी किए गए हैं.

kanwar 2

यूपी के डीजीपी ने कांवड़ यात्रा मार्ग की सुरक्षा में विशेष इजाफा करने को कहा है. कांवडिय़ों के आगमन और सावन मेला को लेकर तीनों शहरों में निगरानी बढ़ा दी गई है.

काशी में बाबा विश्वनाथ परिसर के अलावा सभी प्रमुख मंदिर सुरक्षा निगरानी में आ गए हैं. मथुरा, वृंदावन बरसाना गोवर्धन और बांके बिहारी मंदिर में आने जाने वालों पर पैनी नजर रखने की हिदायत दी गई है.

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि इस बार यूपी में हुड़दंगी कांवड़ियों के लिए दोहरी परेशानी झेलने को मिलेगी. एक तरफ सरकार के गाइडलाइंस के मुताबिक उनको डीजे नहीं बजाना पड़ेगा दूसरी तरफ अमरनाथ यात्रियों पर हमले के बाद पुलिस की नजर भी पैनी रहेगी. योगी सरकार के इस आदेश के बाद लोग अब पूरे आस्था के साथ बाबा भोलेनाथ का दर्शन कर पाएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi