S M L

आतंकी मसूद अजहर मामले में अभी भी अपने रुख पर अड़ा है चीन

अजहर भारत में कई घातक हमलों का आरोपी है, इनमें 2016 में कश्मीर के उरी सैन्य शिविर पर हुआ हमला भी शामिल है जिसमें 17 सुरक्षा कर्मियों की मौत हुई थी

Updated On: Oct 23, 2018 07:11 PM IST

Bhasha

0
आतंकी मसूद अजहर मामले में अभी भी अपने रुख पर अड़ा है चीन
Loading...

मंगलवार को चीन ने स्पष्ट किया कि संयुक्त राष्ट्र की वैश्विक आतंकवादियों की सूची में पाकिस्तानी दहशतगर्द जैश-ए-मौहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को शामिल करने के भारत के अनुरोध पर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं आया है. चीन ने कहा कि वह ‘मामले के गुण दोष’ के आधार पर मुद्दे पर निर्णय करेगा.

नई दिल्ली में हुई भारत चीन के बीच द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग पर पहली उच्च स्तरीय बैठक में सोमवार को भारत ने चीन से संयुक्त राष्ट्र में अजहर को वैश्चिक आतंकी के तौर पर नामित करने के लिए लंबित पड़े अनुरोध का समर्थन करने को कहा था. इस बैठक की सह अध्यक्षता गृह मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के स्टेट काउंसलर और सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री झाओ केझी ने की.

चीन के पास है वीटो की ताकत

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन स्थाई सदस्य है और इसके पास वीटो की ताकत है. चीन ने बार-बार संयुक्त राष्ट्र में अजहर को वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल करने की भारत की कोशिश को बाधित किया है. भारत के अनुरोध के बारे में चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनइंग से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें दोनों मंत्रियों के बीच बातचीत के ब्यौरे को देखना है.

उन्होंने कहा, ‘मसूद को सूची में शामिल करने के भारत के अनुरोध के संबंध में हम पहले ही कई बार अपना रुख बता चुके हैं.’ चुनइंग ने कहा कि आतंकवाद रोधी मुद्दे पर, चीन हमेशा से अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद रोधी अभियानों में हिस्सा लेता रहा है. हमने हमेशा अपने फैसले मामले के गुण दोष के आधार पर किए हैं.’

प्रवक्ता ने कहा, ‘हम पक्षों के साथ क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए सुरक्षा सहयोग को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे.’ अजहर भारत में कई घातक हमलों का आरोपी है. इनमें 2016 में कश्मीर के उरी सैन्य शिविर पर हुआ हमला भी शामिल है जिसमें 17 सुरक्षा कर्मियों की मौत हुई थी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi