S M L

भारत की कैंसर दवाओं पर सीमाशुल्क कटौती के लिए सहमत हुआ चीन: विदेश मंत्रालय

भारतीय दवाओं विशेषकर कैंसर की दवाओं की चीन में बड़ी मांग हैं क्योंकि ये पश्चिमी देशों की तुलना में बहुत सस्ती हैं.

Updated On: Jul 09, 2018 06:56 PM IST

Bhasha

0
भारत की कैंसर दवाओं पर सीमाशुल्क कटौती के लिए सहमत हुआ चीन: विदेश मंत्रालय

भारत और चीन भारतीय दवाओं विशेषकर कैंसर दवाओं के चीन में आयात पर लगने वाले सीमा शुल्क (टैरिफ) में कटौती पर सहमत हुए हैं. चीन के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी.

इससे कुछ दिन पहले ल्यूकेमिया के एक मरीज पर बनी चीन की एक फिल्म में सस्ती भारतीय दवाओं के आयात का रास्ता साफ करने की जरूरत को रेखांकित किया गया था.

हालांकि यह साफ नहीं है कि क्या चीन यहां बड़े बाजार में कैंसर की दवाओं को बेचने के लिए भारतीय कंपनियों को लाइसेंस देने पर सहमत हुआ है या नहीं क्योंकि यह एक बड़ा कदम हो सकता है.

सरकारी 'चाइना सेंट्रल टेलीविजन' की एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन में हर साल करीब 43 लाख लोग कैंसर से पीड़ित हो रहे हैं. भारतीय दवाओं विशेषकर कैंसर की दवाओं की चीन में बड़ी मांग हैं क्योंकि ये पश्चिमी देशों की तुलना में बहुत सस्ती हैं.

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि भारत और चीन दवाओं पर सीमाशुल्क में कमी पर सहमत हुए हैं. विस्तृत जानकारी के लिए , मैं आपको संबंधित अधिकारियों के पास भेजूंगी.

मई में चीन ने कैंसर की दवाओं के आयात पर सीमाशुल्क में कटौती की थी. यह साफ नहीं है कि इसी घोषणा का जिक्र किया जा रहा था या नहीं. मई की घोषणा से भारतीय कंपनियों में कोई खास उत्साह पैदा नहीं हुआ था क्योंकि वे चीन में अपनी दवाओं को कानूनी रूप से नहीं बेच सकते क्योंकि इसके लिए देश के खाद्य एवं दवा विभाग से लाइसेंस की जरूरत है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi