S M L

आतंकी मसूद अजहर पर पाबंदी की मांग को चीन का समर्थन नहीं

भारत द्वारा यूएन में मसूद अजहर पर पाबंदी लगाने की मांग का चीन ने समर्थन नहीं किया है. भारत की इस मांग को चीन ने ठुकरा दिया है

Updated On: Feb 15, 2019 03:43 PM IST

FP Staff

0
आतंकी मसूद अजहर पर पाबंदी की मांग को चीन का समर्थन नहीं

भारत ने मसूद अजहर पर पाबंदी लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र से अपील की थी. लेकिन चीन एक बार फिर इसके खिलाफ है. चीन ने मसूद अजहर पर बैन लगाने की अपील ठुकरा दी है. पुलवामा आतंकी हमले के बाद भी चीन मसूद और पाकिस्तान के साथ खड़ा है.

जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में हुए सेना पर सबसे बड़े आतंकी हमले में गुरुवार को 40 जवान शहीद हो गए. जैश-ए-मुहम्मद की ओर से अंजाम दिए गए इस हमले में एक आत्मघाती हमलावर ने सीआरपीएफ के एक काफिले में विस्फोटक से भरी गाड़ी भिड़ा दी थी, जिसमें एक बस में सवार 40 जवान शहीद हो गए.

ये भी पढ़ें: Pulwama Attack की इनसाइड स्टोरी: स्कूल का शर्मीला छात्र कैसे बन गया मानव बम?

न्यूज18 हिंदी के मुताबिक, इस बस में सीआरपीएफ के 44 जवान सवार थे. यह बस सीआरपीएफ की 76वीं बटालियन की थी. इसमें ज्यादातर जवान हेड कॉन्स्टेबल और ट्रेड्समैन रैंक के थे. बस में सवार जवानों की एक लिस्ट सामने आई है, जिसमें बस का नंबर और जवानों के नाम उनके बटालियन नंबर के साथ दर्ज हैं.

भारतीय सेना पर हुए इस हमले की चौतरफ निंदा हो रही है. अमेरिका, रुस सहित यूएन ने भी इसकी भर्त्सना की है. देश भर में लोग गुस्से में हैं और हर तरफ से इस आतंकी हमले के खिलाफ आवाज उठ रही है. पीएम मोदी ने लोगों से शांति और आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने की बात की तो वहीं विपक्ष सरकार के साथ इस घटना में साथ खड़ी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि वो सरकार के हर फैसले पर साथ हैं.

ये भी पढ़ें: CRPF जवानों पर हमला: मनमोहन सिंह बोले- देश को एकजुट रखने के लिए सब कुछ करेंगे, हम जवानों के साथ खड़े हैं

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi