S M L

इंसानों से ज्यादा साफ-सुथरे बिस्तर पर सोते हैं चिम्पैंजी

इंसानों के बिस्तर पर मिलने वाले 35 फीसदी जीवाणु खुद के शरीर के ही होते हैं. इंसानों के घर का अपना पारिस्थितिकी तंत्र होता है और इन घरों में सूक्ष्मजीव भी रहते हैं

Bhasha Updated On: May 16, 2018 07:07 PM IST

0
इंसानों से ज्यादा साफ-सुथरे बिस्तर पर सोते हैं चिम्पैंजी

चिम्पैंजी का बिस्तर इंसानों की अपेक्षा ज्यादा साफ होता है. चौंक गए ! चौंकिए मत यह दावा एक रिसर्च में किया गया है. इस रिसर्च में पेड़ों पर चिम्पैंजियों द्वारा तैयार किए जाने वाले उनके बिस्तर पर मिले जीवाणुओं और कीड़े-मकोड़े का अध्ययन किया गया है.

अमेरिका के नॉर्थ कैरोलाइना स्टेट यूनिवर्सिटी के पीएचडी छात्र मेगन थोमेस ने बताया, 'हम जानते हैं कि इंसानों के घर का अपना पारिस्थितिकी तंत्र होता है और इन घरों में सूक्ष्मजीव भी रहते हैं.'

‘रॉयल सोसाइटी ओपन साइंस’ जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन के मुख्य लेखक थोमेस ने कहा, 'उदाहरण के तौर पर इंसानों के बिस्तर पर मिलने वाले 35 फीसदी जीवाणु खुद के शरीर के ही होते हैं.'

अनुंसधानकर्ताओं ने पाया कि कुछ अन्य जंगली जानवरों के मुकाबले चिम्पैंजी इंसान के करीबी हैं जो कि खुद रोजाना अपना बिस्तर तैयार करते हैं. तंजानियां के अनुसंधानकर्तओं ने 41 चिम्पैंजी के बिस्तरों के सफाई से जुड़े आंकड़ों का संग्रह किया. इन आंकड़ों से पता चला कि चिम्पैंजी के बिस्तर में जीवाणु के पाए जाने की संभावना कम होती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi