S M L

बच्चा पसंद करके गोद नहीं ले सकते हैं पेरेंट्स

प्रोफाइल भेजने के बाद पेरेंट्स को बच्चे को चुनने के लिए 48 घंटे का वक्त दिया जाएगा

Updated On: Apr 30, 2017 07:27 PM IST

Bhasha

0
बच्चा पसंद करके गोद नहीं ले सकते हैं पेरेंट्स

बच्चा गोद लेने जा रहे पेरेंट्स को अब बच्चे को चुनने की मंजूरी नहीं होगी. अब पेरेंट्स केवल राष्ट्रीय निकाय द्वारा दिए जाने वाले बच्चे को स्वीकार या खारिज ही कर सकते हैं. नया नियम सोमवार से लागू हो जाएगा.

अब तक सरकार के एडॉप्शन पोर्टल ‘केयरिंग्स’ में पंजीकरण कराने वाले पेरेंट्स को तीन तक बच्चे दिखाए जाते थे जिनमें से वे एक को चुन सकते थे. अब यह चलन खत्म हो जाएगा और पेरेंट्स को एक ही बच्चा दिखाया जाएगा.

चाइल्ड एडोप्शन रिसोर्स ऑथिरिटी के सीईओ लेफ्टिनेंट कर्नल दीपक कुमार ने कहा, ‘गोद लेने की दर काफी धीमी थी और बच्चे रिफरल साइकल में ही रह जाते हैं. नई पद्धति के तहत हम अपने एडोप्शन पूल में मौजूद सभी बच्चों को संभावित अभिभावकों की बराबर संख्या को रेफर कर सकते हैं.’

20 दिन का वक्त फॉर्मेलिटीज के लिए दिया जाएगा

कुमार ने कहा कि निकाय बच्चों को एक उत्पाद की तरह चुनने के चलन को हतोत्साहित करने की भी कोशिश कर रहा है. दंपति बच्चे का प्रोफाइल भेजे जाने के बाद 48 घंटे के भीतर उसे गोद लेने को अपनी मंजूरी दे सकती है.

प्रोफाइल भेजने के बाद पेरेंट्स को बच्चे को चुनने के लिए 48 घंटे का वक्त दिया जाएगा. राजी होने पर कोर्ट से अडॉप्शन ऑर्डर हासिल करने से पहले 20 दिनों का वक्त फॉर्मेलिटीज को पूरा करने के लिए दिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi