S M L

तेलंगाना: कांग्रेस का आरोप मतदाता सूची में 70 लाख विसंगतियां, सीईओ ने किया खंडन

कांग्रेस ने कहा कि टीआरएस ने तेलंगाना विधानसभा को समयपूर्व भंग कराया था, ताकि मतदाता सूची में छेड़छाड़ के जरिए चुनाव को अपने पक्ष में किया जा सके

Updated On: Sep 16, 2018 07:30 PM IST

FP Staff

0
तेलंगाना: कांग्रेस का आरोप मतदाता सूची में 70 लाख विसंगतियां, सीईओ ने किया खंडन
Loading...

तेलंगाना की मतदाता सूची में 70 लाख विसंगतियों के कांग्रेस के आरोप का तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रजत कुमार ने खंडन किया है. उन्होंने कहा 'हमारे विश्लेषण से 70 लाख का यह आंकड़ा बहुत ज्यादा है.' दरअसल कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया था कि तेलंगाना में मतदाता सूची में करीब 70 लाख विसंगतियां हैं. इसी के साथ उन्होंने कहा कि अगर दोषपूर्ण और गलत मतदाता सूची पर चुनाव हुए तो यह देश के लोगों के साथ धोखा होगा.

आपत्ति दर्ज कराने की अवधि 25 सितंबर तक

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि पार्टी ने इस बारे में निर्वाचन आयोग से भी सख्त तरीके से हस्तक्षेप की मांग की थी. इस पर तेलंगाना के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि दावों और आपत्तियों को दर्ज कराने की अवधि 25 सितंबर तक है. और यदि विवरण किसी भी राजनीतिक दल द्वारा हमें प्रदान किए जाते हैं. तो उनकी पूरी तरह से जांच की जाएगी और उन्हें सूचित किया जाएगा.

टीआरएस छेड़छाड़ के जरिए जीतना चाहती है चुनाव: कांग्रेस

दरअसल कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि प्रदेश में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने तेलंगाना विधानसभा को समयपूर्व भंग कराया था. ताकि मतदाता सूची में छेड़छाड़ के जरिए चुनाव को अपने पक्ष में किया जा सके. कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता सिंघवी ने आरोप लगाया कि कुल 70 लाख विसंगतियों में से करीब 30 लाख मतदाताओं के नामों का दोहरीकरण है. जबकि 20 लाख नामों को यह कहकर मतदाता सूची से हटा दिया गया है कि वे आंध्र प्रदेश जा चुके हैं. उन्होंने दावा किया कि आंध्र प्रदेश की मतदाता सूची में इन नामों को नहीं जोड़ा गया है.

(भाषा से इनपुट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi