विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

तांत्रिक चंद्रास्वामी का 66 साल में निधन, नरसिम्हा राव के दौर में अचानक चर्चा में आए थे

चंद्रास्वामी के भक्तों की फेहरिस्त में नरसिम्हा राव के अलावा ब्रिटेन की पीएम थैचर भी थीं

FP Staff Updated On: May 23, 2017 06:53 PM IST

0
तांत्रिक चंद्रास्वामी का 66 साल में निधन, नरसिम्हा राव के दौर में अचानक चर्चा में आए थे

तांत्रिक चंद्रास्वामी का मंगलवार को निधन हो गया. वह 66 साल के थे. माना जाता था कि वे पीवी नरसिम्हा राव के अध्यात्मिक गुरु थे. 90 के दशक में जब नरसिम्हा राव प्रधानमंत्री बने थे तब चंद्रास्वामी अचानक चर्चा में आए थे.

राव के साथ गहरा नाता

राव जब 1991 में पीएम बने तब उन्होंने दिल्ली में चंद्रास्वामी का एक आश्रम बनाया था. माना जाता था कि  इस आश्रम की जमीन इंदिरा गांधी ने दी थी.

कौन थे चंद्रस्वामी?

1948 में जन्‍मे चंद्रास्‍वामी का असली नाम नेमिचंद था.ये जैन समुदाय के थे. चंद्रास्वामी पर कई वित्तीय गड़बड़ियों का आरोप था. दन के बिजनेसमैन से एक लाख डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में 1996 में उनको जेल भी जाना पड़ा. उनके ऊपर विदेशी मुद्रा उल्‍लंघन यानी फेमा के कई मामले भी चले. फॉरेन एक्सचेंज से जुड़े कई वित्तीय मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने उनपर पेनाल्टी भी लगाई थी.

कौन हैं चंद्रास्वामी के भक्त? 

नरसिम्हा राव के अलावा चंद्रास्वामी के भक्तों में ब्रिटेन की पीएम मार्गरेट थैचर का भी नाम है. इस मामले में पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने अपनी किताब 'वॉकिंग विद लायन्‍स-टेल्‍स फ्रॉम अ डिप्‍लोमेटिक पास्‍ट' में लिखा है कि चंद्रास्वामी की मदद से वह 1975 में थैचर से मिले थे. इस मुलाकात में ही उन्होंने ऐलान कर दिया था कि वह अगले तीन-चार साल तक पीएम बनी रहेंगी. और उनकी यह बात सही भी साबित हुई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi