विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

चंडीगढ़ छेड़खानी केस: पुलिस ने विकास बराला को भेजा समन

मंगलवार की शाम को विकास बराला ने पुलिस से समन लेने से साफ तौर पर इनकार कर दिया था

FP Staff Updated On: Aug 09, 2017 10:16 AM IST

0
चंडीगढ़ छेड़खानी केस: पुलिस ने विकास बराला को भेजा समन

चंडीगढ़ के हाईप्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में मंगलवार को चंडीगढ़ प्रशासन ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंप दी है. वहीं, हरियाणा पुलिस ने आरोपी विकास बराला और उसके दोस्त को जांच में शामिल होने के लिए समन जारी करते हुए बुधवार को 11 बजे बुलाया है.

बता दें कि मंगलवार की शाम को विकास बराला ने पुलिस से समन लेने से साफ तौर पर इनकार कर दिया था. इसके बाद पुलिस ने उसके सेक्टर-7 स्थित घर पर ही समन चिपका दिया. रिपोर्ट के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज में वर्णिका की कार का एक एसयूवी पीछा करते दिख रही है. हालांकि, इस वीडियो में एसयूवी में बैठे लोग स्पष्ट तौर पर नहीं दिख रहे हैं.

chandigarh stalking case notice

ये है मामला

आरोप है कि विकास बराला और आशीष कुमार ने सीनियर आईएएस की बेटी की कार का पीछा किया था. उन्होंने लड़की की कार का दरवाज़ा भी खोलने की कोशिश की. लड़की के कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ़्तार कर लिया. गिरफ्तारी के अगले ही दिन विकास बराला को जमानत मिल गई. जांच में पाया गया कि विकास बराला ने शराब पी रखी थी. पीड़ित ने इस पूरे वाक्ये को फेसबुक पर बयां किया था.

इस मामले में हरियाणा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला पहली बार मीडिया के सामने आए. उन्होंने कहा कि वर्णिका कुंडू को न्याय दिलाने के लिए विकास और आशीष पर जो भी कानूनी कार्रवाई बनती है, वह होनी चाहिए. भाजपा पार्टी बेटियों की आजादी की समर्थक हैं, बराला ने कहा कि वर्णिका मेरी बेटी की तरह है. उसे न्याय जरूर मिलेगा. मेरा और बीजेपी का किसी पर भी कोई दबाव नहीं है और न होगा.

इस मसले पर विपक्ष काफी मुखर है. तृणमूल कांग्रेस की मुनमुन सेन, इंडियन नेशनल लोकदल के दुष्यंत चौटाला और कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर जांच को प्रभावित करने के आरोप लगाए. चौटाला ने चंडीगढ़ की घटना की निंदा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी मुख्यमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन करेगी.

नैतिकता के आधार पर सुभाष बराला को जनता में बयान देना चाहिए. उनका ये भी कहना था कि इस मुद्दे को उन्होंने लोकसभा में मंगलवार को उठाने की कोशिश की लेकिन समय की कमी के चलते ऐसा नहीं हो सका. अब बुधवार को ये मामला उठाया जाएगा.

( साभार: न्यूज 18 )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi