S M L

मजीठिया से माफी मांगते ही केजरीवाल के खिलाफ AAP में असंतोष

मानहानि मामले में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से चिट्ठी लिखकर माफी मांगने को लेकर आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई में काफी अंसतोष देखने को मिल रहा है.

Updated On: Mar 16, 2018 11:01 PM IST

FP Staff

0
मजीठिया से माफी मांगते ही केजरीवाल के खिलाफ AAP में असंतोष

मानहानि मामले में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से चिट्ठी लिखकर माफी मांगने को लेकर आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई में काफी अंसतोष देखने को मिल रहा है. इसी क्रम में पार्टी के उपाध्यक्ष और सुनाम से एमएलए अमन अरोड़ा ने मनीष सिसौदिया को अपने इस्तीफे की जानकारी दे दी है. उन्होंने मनीष सिसौदिया को लिखा है कि केजरीवाल के इस राजनीतिक कदम से वह आहत हुए हैं और पार्टी पद से इस्तीफा दे रहे हैं. बता दें इस कर्म में पार्टी के पंजाब प्रदेश अध्‍यक्ष भगवंत मान ने भी इस्‍तीफा दे दिया है.

संगरूर से सांसद भगवंत मान ने इस्तीफा देने की घोषणा करते हुए ट्विटर पर लिखा, 'मैं आप पंजाब के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं. लेकिन ड्रग माफिया और पंजाब में सभी किस्म के भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई पंजाब के आम आदमी के रूप में जारी रहेगी.'

इससे पहले आम आदमी पार्टी के पंजाब विधानसभा में नेता विपक्ष सुखपाल खैहरा और पूर्व पत्रकार और सीनियर विधायक कंवर संधू ने खुलेआम ट्वीट करके केजरीवाल को घेरते हुए बिक्रम सिंह मजीठिया से मांगी गई माफी को पंजाब की जनता से धोखा बताया और पंजाब की जनता से माफी मांगी.

सुखपाल खैहरा ने इस मामले पर न्यूज 18 इंडिया से बातचीत करते हुए कहा कि ड्रग्स को लेकर पार्टी का स्टैंड काफी क्लियर है. अरविंद केजरीवाल की चिट्ठी उनकी समझ से बाहर है कि उन्होंने किस आधार पर चिट्ठी लिखी है.

बता दें कि वित्त मंत्री अरुण जेटली, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश समेत कई नेताओं ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है. दिल्ली सरकार और सीएम के करीबी सूत्रों के मुताबिक, मानहानि मामलों की सुनवाई के कारण अदालत में केजरीवाल को रोज़ाना घंटों बर्बाद करने पड़ रहे हैं. जिसका असर प्रशासन के कामकाज पर पड़ रहा है. इसलिए अब अरविंद केजरीवाल की कोशिश है कि बातचीत और माफी के जरिये सभी मामले खत्म हो. इसी के तहत उन्होंने मजीठिया से माफी मांगी है.

अकाली दल के सीनियर नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आम आदमी पार्टी के लेटर हेड पर अरविंद केजरीवाल की और से लिखी गई चिट्ठी दिखाई थी. इस चिट्ठी में अरविंद केजरीवाल ने मजीठिया से पंजाब चुनाव प्रचार के दौरान रैलियों, टीवी डिबेट और अखबारों को दिए अपने इंटरव्यू के दौरान मजीठिया और उनके परिवार पर लगाए गए ड्रग्स तस्करी के तमाम आरोपों पर माफी मांगी है.

जारी रहेगी ड्रग के खिलाफ जांच की मांग

केजरीवाल की इस माफी पर पंजाब से ही आप नेता सुखपाल सिंह खेरा ने भी असंतोष जताया है. उन्होंने गुरुवार को ट्वीट किया- 'अरविंद केजरीवाल के माफी से हम हैरान हैं. मुझे यह स्वीकार करते हुए कोई शर्मिंदगी नहीं हो रही है कि ऐसे फैसले को लेकर हमसे राय भी नहीं ली गई.' उन्होंने लिखा, 'मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि आखिर ऐसे वक्त में केजरीवाल को माफी मांगने की क्या जरूरत पड़ गई, जब कोर्ट में मामला विचाराधीन है और मजीठिया के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं.'

वहीं कंवर संधु ने ट्वीट किया-'सीएम के माफी मांगने के बाद भी हम पंजाब में ड्रग्स के कारोबार और मजीठिया की संदिग्धता की सीबीआई जांच की मांग करते रहेंगे. सच्चाई के लिए आप हमेशा लड़ती आई है और आगे भी लड़ेगी.'

कुमार विश्वास ने ट्विटर पर लिखा- 'एकता बांटने में माहिर है, खुद की जड़ काटने में माहिर है, हम क्या उस शख्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है!'

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi