S M L

हरियाणा सरकार 2 अक्टूबर को अहिंसा दिवस के रूप में मनाएगी

इस मौके पर एक अक्टूबर से चार अक्टूबर 2017 के बीच विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा

Bhasha Updated On: Oct 01, 2017 01:04 PM IST

0
हरियाणा सरकार 2 अक्टूबर को अहिंसा दिवस के रूप में मनाएगी

हरियाणा सरकार ने 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जंयती को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया है.

एक आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश सरकार ने इस दिन को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के तौर पर मनाने का संकल्प लिया है. इस मौके पर एक अक्टूबर से चार अक्टूबर 2017 के बीच विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. युवाओं को इससे जोड़ते हुये जिलों में कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा.

एक अक्टूबर को नाटक और संगीत संध्या का आयोजन किया जायेगा और दो अक्टूबर को शहर के सिटी सेंटर में शांति मार्च निकाला जायेगा.

गौरतलब है इससे पहले प्रदेश में पहली बार 2 अक्तूबर, 2016 को महात्मा गांधी जयंती को पूरे हरियाणा में ग्राम सचिवालय दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया था. सरकार ने ग्राम पंचायतों को संस्थागत सरकार का रूप प्रदान करने के लिए ग्राम सचिवालयों की अवधारणा को अमलीजामा पहनाने की कवायद शुरू की थी.

गांधी जी की हरियाणा से जुड़ी खास यादें

हरियाणा के अंतिम छोर पर बसे जिले पलवल से गांधी जी की बेहद खास याद जुड़ी है. स्वतंत्रता आंदोलन को कुचलने के लिए बनाए गए रोलेट एक्ट के खिलाफ गांधी जी रेलगाड़ी से जलियांवाला बाग अमृतसर गए थे. इस सफर के दौरान रास्ते में पलवल रेलवे स्टेशन पर ब्रिटिश सरकार ने 10 अप्रैल 1919 को बापू को गिरफ्तार किया था.

दो अक्टूबर 1938 को नेता जी सुभाष चंद्र बोस पलवल आए, तो उन्होंने गांधी जी की याद में एक स्मारक का शिलान्यास किया. उस स्मारक को आज गांधी सेवा आश्रम ट्रस्ट के नाम से जाना जाता है. करीब 5 एकड़ में फैले इस आश्रम में उनके बचपन से लेकर अंतिम सफर तक की कई चीजें संजो कर रखी गई हैं. इसलिए ट्रस्ट को लोग मिनी राजघाट का दर्जा भी देते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi