Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

200 युवा सीईओ को पीएम मोदी ने किया संबोधित, कहा- आप देश के विकास के सैनिक हैं

मोदी ने कहा कि हमारे देश में हर सरकार ने आगे बढ़ने का प्रयास किया है. लेकिन आजादी के बाद विकास मास मूवमेंट नहीं बन पाया

FP Staff Updated On: Aug 22, 2017 07:17 PM IST

0
200 युवा सीईओ को पीएम मोदी ने किया संबोधित, कहा- आप देश के विकास के सैनिक हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्‍ली में 200 युवा सीईओ को संबोधित किया. वहीं इकोनॉमिक एक्टिविटी और प्रक्रियाओं से जुड़े पुराने सिस्‍टम को बदलने, प्राइवेट इन्‍वेस्‍टमेंट को बढ़ावा देने पर बातचीत की.

उन्होंने कहा कि सरकार के लिए लोगों का कल्‍याण और नागरिकों की खुशी सर्वोच्‍च है. प्रत्‍येक नागरिक को यह लगना चाहिए कि यह देश उनका है और वह इसके लिए काम करेगा.

रोजगार के नए उपायों का सृजन करने जैसे मकसद के साथ सरकार ने प्राइवेट सेक्‍टर के प्रतिभाशाली युवा लीडर्स को सरकारी व्‍यवस्‍था में अहम भूमिका निभाने की नई पहल शुरू की है.

इसके तहत देश के नीति निर्माता नए आंत्रप्रेन्‍योर्स और युवा सीईओ से बैठक कर उनसे इनोवेटिव आइडिया आमंत्रित किए. 21 अगस्‍त को शुरू हुई दो दिवसीय बैठक के पहले दिन वित्‍त मंत्री के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इसमें शिरकत की और खासकर रोजगार के नए उपायों के सृजन पर विस्‍तार से चर्चा की. वहीं मंगलवार प्रधानमंत्री ने 200 युवा बिजनेस लीडर्स का बाकायदा विस्‍तृत प्रजेंटेशन देखा.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रत्‍येक व्‍यक्ति भारत को आजाद देखना चाहता है लेकिन गांधी जी ने कुछ अलग किया. उन्‍होंने सभी को यह महसूस कराया कि वह देश के लिए काम कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि हम अभी 2017 में हैं वहीं हमें सोचना है कि 2022 में कहा तक पहुंचना है. हम सबको मिल कर  मॉर्डन भारत के लिए काम करना है. वहीं युवा सीईओ से उन्होंने कहा कि आप भी देश की इस प्रगति में सैनिक बन सकते हैं. प्रयास करने से रास्ते मिलते जाएंगे.

उन्होंने कहा, 'देश के हर नागरिक को लगना चाहिए कि ये मेरा देश है. सरकार के लिए पब्लिक इंटरेस्ट सबसे ऊपर है. सरकार के लिए नागरिकों का कल्याण और उनकी खुशी सर्वोपरि है. उन्होंने कहा कि मेरी इस प्रक्रिया का उद्देश्य यह है कि हर व्यक्ति को लगे कि यह देश मेरा है.

रोजगार और निजी निवेश बढ़ाना मुख्‍य मकसद

नीति आयोग के नेतृत्‍व में चल रही इस पहल का मुख्‍य मकसद निजी निवेश को बढ़ावा देकर रोजगार के उपायों का सृजन है.

ये युवा सीईओ हुए शामिल

21 अगस्‍त को युवा सीईओ ने केंद्र सरकार के विभिन्‍न मंत्रालयों के सचिवों और मंत्रियों के साथ पूरी प्रक्रियाओं पर विस्‍तार से चर्चा की. चैंपियंस ऑफ चैंज पहल के तहत शामिल होने वाले सीईओ में बजाज ऑटो के राजीव बजाज, एस्‍कॉट्स के निखिल नंदा, फ्यूचर रिटेल के अवनी बियानी, अपोलो हॉस्पिटल्‍स की संगीता रेड्डी, गोल्‍डमैन साक्‍स के बंटी बोहरा, केकेआर के संजय नायर, हिंदुस्‍तान यूनीलीवर की प्रिया नायर, नॉकरीडॉटकॉम के संजीव भिकचंदानी और रीन्‍यू पॉवर के सुमंत सिन्‍हा जैसे लोग इसमें हिस्‍सा ले रहे हैं.

6 ग्रुप में बांटा गया है सीईओ को

सीईओ को 6 समूहों में बांटा गया है और हर ग्रुप के समक्ष विचार करने और सलाह देने के लिए देश के सामने मौजूद एक अहम मामला दिया गया है.

इन मामलों पर किया विचार

किसानों की इनकम को किस तरह दोगुना किया जाए, भविष्‍य की जरूरतों के मुताबिक शहरों का निर्माण, मेक इन इंडिया, फाइनेंशियल सेक्‍टर रिफॉर्म, वर्ल्‍ड क्‍लास इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर और न्‍यू इंडिया 2022.

212 स्‍टार्टअप्‍स के फाउंडर्स से भी की थी चर्चा

पिछले सप्‍ताह 212 स्‍टार्टअप्‍स के फाउंडर्स और युवा आंत्रप्रेन्योर से भी सरकारी नीति निर्माताओं ने विस्‍तार से चर्चा की थी. इन लोगों ने प्रधानमंत्री के सामने एक पॉलिसी प्रजेंटेशन भी दिए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi