S M L

शहरों में अब ज्यादा तेज दौड़ेंगी गाड़ियां, सरकार ने बढ़ाई स्पीड लिमिट

शहरी मार्गों पर कारों की स्पीड 70, कारगो कैरियर के लिए 60 और दोपहिया के लिए 50 किमी प्रति घंटा तय की गई है

FP Staff Updated On: Mar 15, 2018 10:50 AM IST

0
शहरों में अब ज्यादा तेज दौड़ेंगी गाड़ियां, सरकार ने बढ़ाई स्पीड लिमिट

केंद्र सरकार ने गाड़ियों की अधिकतम गति सीमा (मैक्सिमम स्पीड लिमिट) बढ़ाने की मंजूरी दे दी है. केंद्र सरकार की ओर से उठाया गया यह ऐसा पहला कदम है. इसके तहत शहरी मार्गों पर कारों की स्पीड 70 किमी प्रति घंटा, कारगो कैरियर के लिए 60 किमी प्रति घंटा और दोपहिया के लिए 50 किमी प्रति घंटा तय की गई है. हालांकि राज्य सरकारें चाहें तो सड़क सुरक्षा को देखते हुए गति सीमा घटा सकती हैं.

सड़क परिवहन मंत्रालय अलग-अलग गाड़ियों के लिए अलग-अलग गति सीमा तय करता आया है. यह सीमा सड़कों की कैटेगरी के मुताबिक तय की जाती थी. फिलहाल शहरी सड़कों पर गति सीमा 40-50 किमी प्रति घंटा है.

टाइम्स ऑफ इंडिया को सूत्रों ने बताया कि शहरों में तेजी से बढ़ते रिंग रोड और आर्टीरीयल रोड के कारण सरकार ने गाड़ियों की स्पीड बढ़ाने पर गौर किया है. एक अधिकारी ने बताया, 'राज्य सरकारों को यह अधिकार दिया गया है कि वे अधिकतम गति सीमा पर फैसला लें, इसलिए केंद्र की ओर से तय स्पीड को वे मंजूरी दे सकती हैं.'

सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को स्पीड बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूर दी. यह मंजूरी सड़कों की चार श्रेणियों के मुताबिक दी गई है. परिवहन मंत्रालय के संयुक्त सचिव अभय दामले की अगुआई में एक कमेटी ने एक्सप्रेसवे और हाइवे पर बसों की गति सीमा बढ़ाने की सिफारिश की थी.

फोटो रॉयटर से

फोटो रॉयटर से

इस फैसले के मुताबिक, अधिकतम गति सीमा अधिसूचित होने के साथ ही गाड़ियों की स्पीड अगर मैक्सिमम लिमिट के 5 प्रतिशत के भीतर रहती है तो ड्राइवरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी.

पूरी दुनिया में सड़क दुर्घटना को देखते हुए शहरी रूटों पर स्पीड घटाने की बात हो रही है. ऐसे में भारत में स्पीड लिमिट बढ़ाने का फैसला चौंकाने वाला है. साल 2016 में 74 हजार लोगों की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi