S M L

केंद्र ने राजीव गांधी हत्याकांड के दोषियों की रिहाई का विरोध किया

जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के एम जोसेफ की तीन सदस्यीय बेंच ने गृह मंत्रालय की ओर से इस संबंध में दायर दस्तावेज रिकार्ड पर लेने के बाद मामले की सुनवाई रोक दी

Bhasha Updated On: Aug 10, 2018 02:13 PM IST

0
केंद्र ने राजीव गांधी हत्याकांड के दोषियों की रिहाई का विरोध किया

केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वह राजीव गांधी हत्याकांड के सात दोषियों को रिहा करने के तमिलनाडु सरकार के प्रस्ताव का समर्थन नहीं करती है क्योंकि इन मुजरिमों की सजा की माफी से ‘खतरनाक परंपरा’ शुरू होगी और इसके ‘अंतरराष्ट्रीय नतीजे’ होंगे.

जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के एम जोसेफ की तीन सदस्यीय बेंच ने गृह मंत्रालय की ओर से इस संबंध में दायर दस्तावेज रिकार्ड पर लेने के बाद मामले की सुनवाई रोक दी.

सुप्रीम कोर्ट ने 23 जनवरी को केंद्र सरकार से कहा था कि तमिलनाडु सरकार के 2016 के पत्र पर तीन महीने के भीतर फैसला ले. राज्य सरकार राजीव गांधी हत्याकांड के सात दोषियों की सजा माफ करके उनकी रिहाई करने के फैसले पर केंद्र की सहमति चाहती है.

राज्य सरकार ने इस संबंध में दो मार्च, 2016 को केंद्र सरकार को पत्र लिखा था. इसमें कहा गया था कि राज्य सरकार ने इन सात दोषियों को रिहा करने का फैसला किया है पर शीर्ष अदालत के 2015 के आदेश के मुताबिक इसके लिए केंद्र की सहमति लेना जरूरी है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव वी बी दुबे ने कोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में कहा है, ‘केंद्र सरकार, आईपीसी 1973 की धारा 435 का पालन करते हुए तमिलनाडु सरकार के दो मार्च, 2016 के पत्र में इन सात दोषियों की सजा और माफ करने के प्रस्ताव से सहमत नहीं है.’

मंत्रालय ने कहा कि निचली अदालत ने दोषियों को मौत की सजा देने के बारे में ‘ठोस कारण’ दिए हैं. मंत्रालय ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी इस हत्याकांड को देश में हुए अपराधों में सबसे घृणित काम करार दिया था.

मंत्रालय ने कहा कि चार विदेशियों, जिन्होंने तीन भारतीयों की मिलीभगत से देश के पूर्व प्रधान मंत्री और 15 अन्य की नृशंत हत्या की थी, को रिहा करने से बहुत ही खतरनाक परपंरा चलेगी और भविष्य में ऐसे ही अन्य अपराधों के लिए इसके गंभीरत अंतरराष्ट्रीय नतीजे हो सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi