S M L

मुगलसराय रेलवे स्टेशन बना पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन

पंडित दीन दयाल उपाध्याय 1968 में रहस्यमय हालात में मुगलसराय स्टेशन पर मृत पाए गए थे

Updated On: Oct 14, 2017 03:15 PM IST

FP Staff

0
मुगलसराय रेलवे स्टेशन बना पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन

मुगलसराय स्टेशन का नाम बदल गया है. अब इसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन के नाम से जाना जाएगा. केंद्र सरकार ने यूपी सरकार के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी, जिसमें इसका नाम बदलने का जिक्र था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय करने के प्रस्ताव दिया था.

केंद्र सरकार के फैसले का विरोध विपक्ष ने पहले ही कर चुका है. पंडित दीन दयाल उपाध्याय 1968 में रहस्यमय हालात में मुगलसराय स्टेशन पर मृत पाए गए थे.

मुगलसराय स्टेशन का निर्माण 1862 में उस समय हुआ था, जब ईस्ट इंडिया कंपनी हावड़ा और दिल्ली को रेल मार्ग से जोड़ रही थी.

इस मामले पर संसद में हंगामा होने पर संसदीय मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि उपाध्याय के नाम के बजाय मुगल के नाम में एक रेलवे स्टेशन को पंसद करना सही सोच नहीं है.

उन्होंने कहा था, 'क्या सभी चीजों के नाम सिर्फ नेहरू-गांधी के नाम पर रहेंगे? बहुत सारे लोगों ने देश के लिए बलिदान किया है.'

और भी जगहों के बदले जा चुके हैं नाम 

इससे पहले पिछले हफ्ते यूपी के नक्सल प्रभावित चंदौली जिले के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम करने पर 6 इंच छोटा करने की धमकी पोस्टर चिपकाकर दी गई थी.

पुलिस ने पोस्टर को उखाड़कर फेंकने के साथ ही अज्ञात के खिलाफ धारा 504 व 506 में मुकदमा दर्ज किया गया था.

इससे पहले लखनऊ में 'विधानसभा मार्ग' का नाम बदलकर 'बाबा साहब आंबेडकर मार्ग' नाम कर दिया गया है. विधानसभा गेट नम्बर 7 का नाम बदलकर 'राजा विजय कुमार त्रिपाठी मार्ग' किया गया.

गोमती नगर के मलिक टिम्बर चौक का नाम बदलकर 'शहीद भगत सिंह चौक' किया जा चुका है. वहीं गोमती नगर के हुसड़िया चैराहे का नया नाम 'शहीद चंद्रशेखर चौक' हो गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi