S M L

केंद्र में ममता सरकार से मांगी चुनाव के दौरान हिंसा पर दूसरी रिपोर्ट

राज्य में सोमवार को हुए चुनाव में भारी हिंसा के बाद रिपोर्ट भेजने को कहा गया था. उसके दो दिन बाद यह संदेश भेजा गया है

Bhasha Updated On: May 16, 2018 08:36 PM IST

0
केंद्र में ममता सरकार से मांगी चुनाव के दौरान हिंसा पर दूसरी रिपोर्ट

केंद्र ने पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव में हिंसा के ब्यौरे को आज अधूरा बताया और प्रदेश सरकार से दूसरी रिपोर्ट भेजने को कहा. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. राज्य में सोमवार को हुए चुनाव में भारी हिंसा के बाद रिपोर्ट भेजने को कहा गया था. उसके दो दिन बाद यह संदेश भेजा गया है.

चुनावी हिंसा में एक दर्जन से ज्यादा लोग मारे गए थे. एक अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से कहा है कि वह चुनावी हिंसा के बारे में विस्तृत रिपोर्ट भेजे क्योंकि राज्य द्वारा भेजी गयी पहली रिपोर्ट 'अधूरी' है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार से उन परिस्थिति के बारे में ब्यौरा मांगा गया था जिनमें हिंसा हुई. इसके साथ ही शांति बहाल करने तथा हिंसा में शामिल लोगों को दंडित करने के लिए उठाए गए कदमों का ब्यौरा देने को भी कहा गया है. प्रदेश में पंचायत चुनाव के दौरान 60 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे.

पश्चिम बंगाल के 20 में से 19 जिलों के 568 बूथों पर बुधवार को हो रहे पुनर्मतदान में हिंसा भड़क गई. कई जगहों पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. मालदा जिले के ऋतुवा मतदान केंद्रों पर भीड़ ने धावा बोल दिया और बैलेट बॉक्‍स उठाकर अपने साथ लेते गए. घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें बंदूक के साथ भीड़ बैलेट बॉक्‍स को हाथ में ले जाते दिखी.

20 जिलों 14 मई को मतदान हुए थे. राज्य निर्वाचन आयोग ने झारग्राम जिले को छोड़कर सभी बूथ पर पुनर्मतदान के आदेश दिए थे. उत्तर दिनाजपुर में 73 बूथों पर पुनर्मतदान कराए गए. वहीं मुर्शिदाबाद में 63, नादिया में 60, अलीपुरदौर में दो और पश्चिम बर्दवान में तीन बूथों पर मतदान हो रहे हैं. ग्रामीण निकायों के कुल 38,616 प्रतिनिधियों के निर्वाचन के लिए 58,000 से अधिक बूथों पर 14 मई को मतदान हुए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi