S M L

J&K में एकतरफा संघर्ष विराम खत्म, आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन शुरू

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'सरकार ने कश्मीरियों के हितों को ध्यान में रखते हुए रमजान के महीने में संघर्ष विराम की घोषणा की थी. ईद के साथ ही रमजान का महीना खत्म हो गया है इसलिए अब दोबारा आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की कार्रवाई होगी'

FP Staff Updated On: Jun 17, 2018 01:27 PM IST

0
J&K में एकतरफा संघर्ष विराम खत्म, आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन शुरू

केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में एकतरफा संघर्ष विराम खत्म करने का फैसला किया है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि सरकार ने कश्मीरियों के हितों को ध्यान में रखते हुए रमजान के महीने में संघर्ष विराम की घोषणा की थी. ईद के साथ ही रमजान का महीना खत्म हो गया है इसलिए अब राज्य में दोबारा आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की कार्रवाई होगी.

जम्मू-कश्मीर में रमजान के महीने में आतंकवाद की घटनाओं में हुई बढ़ोतरी और सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने के बाद केंद्र ने यह फैसला लिया है.

राजनाथ ने कहा कि ऐसा करने से पीछे सरकार का उद्देश्य आम कश्मीरी के जान और माल की हिफाजत करना है.

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने जम्मू-कश्मीर में सीजफायर खत्म किए जाने के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि कश्मीर के ज्यादातर युवा हिंसा की राजनीति से आगे बढ़ गया है.

बता दें कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 17 मई को जम्मू-कश्मीर में एकतरफा संघर्ष विराम की घोषणा की थी. ऐसा राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के रमजान के महीने में विशेष आग्रह पर किया गया था.

हालांकि, रमजान के दौरान सीजफायर लागू रहने पर घाटी में आतंकवाद की घटनाओं में तेजी आई थी. इस वजह से सरकार पर इस बात का दबाव था कि वो अपने इस आदेश को वापस ले और सुरक्षाबलों को आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाने की इजाजत दे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi