S M L

CBSE पेपर लीक: बवाना के एक स्कूल के CCTV कैमरे एकसाथ कैसे खराब हो गए

बवाना स्थित इस निजी स्कूल के दो अध्यापकों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया है. यहां पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं लेकिन रिकॉर्डिंग मौजूद नहीं है

Updated On: Apr 03, 2018 09:37 AM IST

FP Staff

0
CBSE पेपर लीक: बवाना के एक स्कूल के CCTV कैमरे एकसाथ कैसे खराब हो गए

सीबीएसई पेपर लीक मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार को बवाना के एक स्कूल के प्रिंसिपल से पूछताछ की. इसी स्कूल के दो अध्यापकों को पुलिस इस मामले में कथित भूमिका को लेकर गिरफ्तार कर चुकी है. रविवार को एक प्राइवेट स्कूल के दो अध्यापक ऋषभ और रोहित को पुलिस ने अर्थशास्त्र के पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया था. इनके साथ एक कोचिंग सेंटर का ट्यूटर तौकीर को भी गिरफ्तार किया गया था.

इस स्कूल के एग्जाम सेंटर पर 26 मार्च को हुए अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा के पेपर दो घंटे पहले पहुंच चुके थे. यह अपने आप में बड़ी गड़बड़ी है क्योंकि पेपर एग्जाम से 1 घंटे पहले सेंटर पर पहुंचना चाहिए.

बवाना में स्थित इस स्कूल के प्रिंसिपल ने पूछताछ में बताया कि यहां पर 15 सीसीटीवी कैमरे हैं लेकिन वो काम नहीं कर रहे हैं. इस मामले में सीबीएसई अधिकारी केएस राणा को एग्जाम सेंटर के पर्यवेक्षण में ढिलाई बरतने के बाद निलंबित कर दिया गया था. मंगलवार को राणा से पुलिस इस मामले में पूछताछ कर सकती है.

पुलिस सूत्रों ने कहा कि इस मामले में एक गिरोह के होने से इनकार नहीं किया जा सकता. हो सकता है कि इस गिरोह में बोर्ड के अधिकारी भी शामिल हों. पुलिस के मुताबिक, आरोपी पहले भी सीबीएसई पेपर लीक कराने में शामिल हो सकते हैं.

गिरफ्तार किए गए दोनों अध्यापको (रोहित और ऋषभ) ने पुलिस से पूछताछ में बताया कि वो पेपर को वॉट्सऐप पर तौकीर को भेजने के अलावा कुछ छात्रों को एग्जाम से दो घंटे पहले सेंटर पर बुला लेते थे. इन छात्रों को वॉट्सऐप पर प्रश्नपत्र दे दिया जाता था. इसके अलावा ये छात्रों को पास मार्क्स पाने लायक के प्रश्नों के उत्तर भी बता देते थे. ये सब होने के बाद छात्रों के लिए बस की सुविधा उपलब्ध करा कर उन्हें अपने एग्जाम सेंटर पर भेज दिया जाता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi