S M L

CBSE पेपर लीकः क्या दिल्ली पुलिस बचा पाएगी लाखों छात्रों का भविष्य?

जांच की अगुवाई खुद क्राइम ब्रांच के स्पेशल कमिश्नर आरआर उपाध्याय कर रहे हैं

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Mar 29, 2018 07:45 PM IST

0
CBSE पेपर लीकः क्या दिल्ली पुलिस बचा पाएगी लाखों छात्रों का भविष्य?

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय इस पर गहनता से विचार कर रहा है कि क्या केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं की परीक्षा के सभी पेपरों के एग्जाम दोबारा से कराए जाएं! सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसमें कहा जा रहा है कि दिल्ली पुलिस की जांच में ही 10वीं और 12वीं के छात्रों का भविष्य टिका हुआ है.

दिल्ली पुलिस की तफ्तीश में अगर दो पेपरों के अलावे भी कुछ और पेपरों के प्रश्न पत्र लीक होने की बात सामने आती है तो ऐसे में सीबीएसई के पास 10वीं और 12वीं परीक्षा दोबारा से कराने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचेगा. सीबीएसई ने दिल्ली पुलिस की जांच को ध्यान में रखते हुए ही रद्द हुए दो पेपरों के एग्जाम का डेट अभी तक घोषित नहीं किया है.

इधर दिल्ली पुलिस दिल्ली-एनसीआर के कई ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही है. दिल्ली पुलिस ने एक एसआईटी गठित कर पेपर लीक मामले में अब तक दो दर्जन से भी ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है. पूछताछ करने वालों में ज्यादातर छात्र हैं.

दिल्ली पुलिस अपनी तफ्तीश में यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि छात्रों के पास से प्रश्न पत्र कहां से आए थे. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इस मामले को लेकर अपने तेज-तर्रार अधिकारियों की एक टीम गठित की है, जिसकी अगुवाई खुद क्राइम ब्रांच के स्पेशल कमिश्नर आरआर उपाध्याय कर रहे हैं.

cbse

मामले में कोचिंग संचालक विक्की का नाम आ रहा है सामने 

आपको बता दें कि सीबीएसई पेपर लीक मामले में दिल्ली के एक कोचिंग संस्थान के संचालक विक्की का नाम प्रमुखता से सामने आ रहा है. सीबीएसई ने भी दिल्ली पुलिस को दिए अपनी शिकायत में विक्की नाम के इस शख्स का जिक्र किया था. सीबीएसई ने अपने शिकायत में कहा है कि 23 मार्च को सीबीएसई को किसी ने एक फैक्स किया, जिसमें पेपर लीक मामले में विक्की नाम के व्यक्ति का हाथ होने की बात लिखी गई थी. विक्की दिल्ली के राजेद्र नगर में एक कोचिंग संस्थान का मालिक है.

ये भी पढ़ेंः PM मोदी पर राहुल का तंज, 'हर चीज़ में लीक है, चौकीदार वीक है'

सीबीइसई की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच विक्की से लगातार पूछताछ कर रही है. साथ ही क्राइम ब्रांच सीबीएसई के अंदर के कुछ कर्मचारियों की भूमिका की जांच भी प्रमुखता से कर रही है. दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक पेपर लीक मामले में सीबीएसई के अंदर भी कुछ लोग शामिल हैं, जिन्हें चिन्हित किया जा रहा है.

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिशनर (क्राइम) आरआर उपाध्याय ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हमें सीबीएसई से अभी सिर्फ विक्की का नाम मिला है. एग्जाम पेपर व्हाट्सएप पर मौजूद था. हम जांच कर रहे हैं कि पेपर व्हाट्सएप पर कैसे आया और इसे कैसे फैलाया गया. सीबीएसई को मिली शिकायत के आधार पर दो केस दर्ज किए गए हैं. करीब 24 लोगों से पूछताछ हो चुकी है. इन लोगों में स्टूडेंट्स भी शामिल हैं. हम अभी किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट का नाम नहीं ले सकते क्योंकि जांच अभी जारी है.'

दूसरी तरफ सीबीएसई के द्वारा दो पेपरों की परीक्षा दोबारा से कराने के फैसले को लेकर छात्रों में नराजगी भी शुरू हो गई है. इस फैसले के विरोध में छात्र-अभिभावक एकजुट हो रहे हैं. बृहस्पतिवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर छात्रों और अभिभावकों ने दो पेपरों की परीक्षा दोबारा कराने के फैसले के विरोध में मार्च निकाला.

IMG_2745

सभी पेपर की परीक्षा दोबारा कराने की मांग कर रहे हैं छात्र 

छात्रों की मांग है कि दो पेपर की परीक्षा कराने के बजाए सभी पेपर की परीक्षा दोबारा से कराए जाएं. छात्रों की मांग है कि लगभग सभी पेपर के प्रश्न पत्र लीक हुए हैं. ऐसे में सभी पेपर्स की परीक्षा दोबारा से कराए जाएं.

इधर सीबीएसई की परीक्षा लीक मामले ने देश में राजनीतिक रंग लेना भी शुरू कर दिया है. सीबीएसई के 10वीं और 12वीं परीक्षा के कुछ पेपर लीक होने के बाद राजनीतिक दलों में आरोप-प्रत्यारोपों का दौर शुरू हो गया है. खुद पीएम मोदी भी इस घटना को लेकर अपना रोष प्रकट कर चुके हैं.

ये भी पढ़ेंः CBSE पेपर लीकः दिल्ली पुलिस की कई जगहों पर छापेमारी, 25 लोगों से हुई पूछताछ

आपको बता दें कि 10वीं गणित की परीक्षा 28 मार्च और 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को ली गई थी. परीक्षा शुरू होने से पहले ही दोनों विषयों के प्रश्न पत्र व्हाट्सऐप पर लीक हो गए थे.

देश के मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने इस मामले को लेकर आतंरिक जांच की बात कही है. साथ ही जावडेकर ने कहा है कि एक नई व्यवस्था लाई जा रही है ताकि पेपर लीक का मामला दोबारा से न हो पाए.

EDS PLS TAKE NOTE OF THIS PTI PICK OF THE DAY::::::::New Delhi: Congress President Rahul Gandhi speaks during the second day of the 84th Plenary Session of Indian National Congress (INC), at the Indira Gandhi stadium in New Delhi on Sunday. PTI Photo by Vijay Verma(PTI3_18_2018_000158B)(PTI3_18_2018_000177B)

राहुल सहित सभी विपक्षियों ने लगाए सरकार पर विफलता के आरोप 

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और सीबीएसई चेयरपर्सन अनीता करवाल को हटाए बिना इस मामले की निष्पक्ष जांच नामुमकिन है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी सीबीएसई पेपर लीक मामले में पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा है कि 'हर चीज में लीक है, चौकीदार वीक है'

ये भी पढ़ेंः CBSE पेपर लीक: सरकारी संरक्षण में हो रहा है पेपर लीक: कांग्रेस

आपको बता दें कि सीबीएसई में 10वीं गणित और इंटर अर्थशास्त्र के पेपर लीक होने के बाद परीक्षा रद्द होने से करीब 18 लाख बच्चों के भविष्य पर गहरा असर पड़ा है. करीब 16 लाख 50 हजार बच्चे 10वीं के हैं तो वहीं लाखों बच्चे इंटर के हैं. छात्रों का कहना है कि आखिर उनकी क्या गलती थी. उनके मेहनत पर पानी फिर गया. वे परीक्षा पर ध्यान दें या फिर पेपर लीक होने पर.

मीटिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इकोनॉमिक्स का पेपर वॉट्सऐप समेत कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर लीक हुए थे. हालांकि, सीबीएसई बार-बार परीक्षा से कुछ घंटे पहले तक भी पेपर लीक होने की घटना से इंकार करती रही. इस मामले पर पिछले दिनों सीबीएसई ने परिजनों से परेशान न होने की अपील भी की थी.

बता दें कि 15 मार्च को भी इस तरह का मामला सामने आया था, जब दिल्ली सरकार ने 12वीं के अकाउंट पेपर लीक होने की शिकायतों की जानकारी सीबीएसई को दी थी. हालांकि, बाद में जांच के आदेश दिए गए और बोर्ड ने लीक की घटना से इंकार किया था.

कुलमिलाकर इस पूरे मामले में सीबीएसई की भूमिका भी संदेह के घेरे में आ गई है. जब कुछ छात्रों ने पिछले सोमवार शाम को ही 12वीं के अर्थशास्त्र का अांसर सीट सीबीएसई मुख्यालय भिजवा दिया था तो मंगलवार को 12वीं अर्थशास्त्र का पेपर का एग्जाम क्यों लिया गया. सीबीएसई ने परीक्षा होने से पहले ही क्यों नहीं कैंसिल कर दी?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi