S M L

CBSE: आज जारी होगी JEE Main 2018 की आंसर-की

CBSE 24 अप्रैल को JEE Main 2018 की आंसर-की जारी करेगा; आंसर को चैलेंज करने की अंतिम तारीख 27 अप्रैल है

Bachan Thakur Updated On: Apr 24, 2018 11:10 AM IST

0
CBSE: आज जारी होगी JEE Main 2018 की आंसर-की

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 24 अप्रैल को JEE Main 2018 की आंसर-की जारी करेगा. आंसर-की दोनों तरह के पेपर (ऑनलाइन और ऑफलाइन) के लिए ऑनलाइन जारी की जाएगी और कैंडिडेट्स ऑन्सर-की की कीज़ द्वारा अपने आंसर को क्रॉस चेक और तुलना कर सकेंगे.

हालांकि, परीक्षा अधिकारी JEE Main 2018 के पेपर-I के लिए 24 अप्रैल को आंसर-की जारी कर रहे हैं, पर यह स्पष्ट नहीं है कि क्या पेपर-I के साथ ही पेपर-II की भी आंसर-की जारी की जाएगी. वैसे ऐसा ही किए जाने की उम्मीद की जा रही है. कैंडिडेट के लिए भरी गई रिस्पॉन्स शीट या OMR शीट भी जारी की जाएगी, जिससे कि वो आधिकारिक ऑन्सर-की से तुलना कर सकें. ऑन्सर-की दिखाने की अंतिम तारीख 27 अप्रैल है.

JEE Main 2018 के पेपर-I (ऑफलाइन) के लिए ऑन्सर-की कोड A, B, C और D के लिए जारी की जाएगी, जबकि पेपर-II के लिए कोड P, Q, R और S के लिए हो सकती है. ये कोड प्रश्नपत्र के सेट्स से जुड़े हुए हैं, जो स्टूडेंट्स को 8 अप्रैल 2018 को दिए गए थे. जिन स्टूडेंट्स ने ऑनलाइन परीक्षा दी थी, वो अपने उत्तर को चेक कर सकेंगे.

स्टूडेंट्स रिस्पॉन्स शीट या OMR शीट का आधिकारिक आंसर-की से मिलान कर परीक्षा में हासिल किए जाने वाले अपने संभावित अंकों की गणना कर सकेंगे. यहां बताते चलें कि JEE Main के पेपर-I के नतीजे 30 अप्रैल को घोषित किए जाएंगे, जबकि पेपर-II के नतीजे 31 मई को घोषित किए जाएंगे.

आधिकारिक ऑन्सर-की से सहमत नहीं हैं? इसे चुनौती दीजिए!

जो स्टूडेंट ऑन्सर-की असहमत हैं और उन्हें लगता है कि यह उत्तर गलत है तो वो इसे 27 अप्रैल तक चुनौती दे सकते हैं. CBSE ने इसके लिए प्रक्रिया बताई है, जिसके तहत निर्धारित फीस का ऑनलाइन भुगतान करने के साक्ष्य के साथ चुनौती दी जा सकती है.

ऑन्सर-की को चुनौती देने की प्रक्रिया

- JEE Main 2018 आवेदन नंबर और पासवर्ड का इस्तेमाल करके लॉग-इन करें.

- 'Challenge Answer Key' विकल्प का चुनाव करें और आवेदन फॉर्म भरें.

- चुनौती देने के साक्ष्य को अपलोड करें.

- चुनौती दिए जाने वाले प्रत्येक प्रश्न के लिए 1000 रुपये का शुल्क डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड, पेटीएम या एसबीआई बडी द्वारा अदा करें.

एक एक्सपर्ट कमेटी आवेदन की समीक्षा करेगी और अंतिम फैसला लेगी. अगर किसी मामले में दी गई चुनौती सही पाई जाती है तो स्टूडेंट को इसके लिए किया गया भुगतान वापिस कर दिया जाएगा और जारी किए जाने वाले फाइनल ऑन्सर में इसको शामिल कर दिया जाएगा.

JEE Main 2018 रिजल्ट के बाद क्या होगा?

JEE Main के ऑनलाइन मोड के पेपर-I का रिजल्ट 30 अप्रैल को घोषित किया जाना तय है. JEE Main में हासिल की गई ऑल इंडिया रैंक भी रिजल्ट के साथ ही घोषित की जाएगी. कैंडिडेट अपना रैंक कार्ड डाउनलोड भी कर सकेंगे. हालांकि पेपर-II का रिजल्ट 31 मई को घोषित किया जाएगा.

CBSE इसके साथ ही JEE Advanced 2018 के लिए भी क्वालिफाइंग कटऑफ जारी करेगा. इस साल 2,24,000 कैंडिडेट्स प्रवेश परीक्षा में शामिल होंगे, जिससे IIT में दाखिले की राह खुलती है. यह संख्या बीते साल की 2,20,000 स्टूडेंट से 4000 ज्यादा है.

NIT, IIIT, CFTI और IIT के लिए प्रवेश की प्रक्रिया ज्वाइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी या JoSAA के मार्फत कॉमन काउंसिलिंग से संपन्न की जाएगी. उम्मीद है कि JoSAA काउंसिलिंग 19 जून से शुरू होगी. काउंसिलिंग की तैयारी करने और अपनी पसंद चुनने के लिए कैंडिडेट JEE Main कटऑफ का सहारा ले सकते हैं, जिसमें बीते सालों की ओपनिंग और क्लोजिंग रैंक दी होती है. कटऑफ के आधार पर कैंडिडेट ब्रांच और इंस्टीट्यूट का अनुमान लगा सकता है, जिसके लिए वह योग्य है और जहां उसको प्रवेश मिलने की संभावना है. कटऑफ प्रोग्राम्स, इंस्टीट्यूट और स्टूडेंट की कैटेगरी के अनुसार अलग-अलग होता है. CBSE द्वारा जारी आधिकारिक डाटा के अनुसार 8 अप्रैल को संपन्न हुए JEE Main 2018 के लिए 10,43,739 कैंडिडेट ने रजिस्ट्रेशन कराया था, जिसमें से 6,46,814 लड़के थे, 2,66,745 लड़कियां थीं और 3 ट्रांसजेंडर्स थे.

(आपके मन में कोई सवाल है? तो  Career 360 प्रश्न उत्तर के प्लेटफॉर्म QnA platform पर लिखें और जवाब पाएं.)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi