S M L

CBSE की 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं आज से शुरू, 28 लाख छात्र हो रहे हैं शामिल

10वीं की परीक्षा के लिए कुल 16,38,428 जबकि 12वीं के लिए 11,86,306 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है

Updated On: Mar 05, 2018 09:43 AM IST

FP Staff

0
CBSE की 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं आज से शुरू, 28 लाख छात्र हो रहे हैं शामिल

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं सोमवार से शुरू हो रही हैं. इन परीक्षाओं में 28 लाख से ज्यादा छात्र शामिल हो रहे हैं. बोर्ड के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

देश-विदेश में एक साथ परीक्षा

सीबीएसई के एक अधिकारी ने बताया कि 10वीं की परीक्षा के लिए कुल 16,38,428 जबकि 12वीं के लिए 11,86,306 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. सरकार ने कंटिन्यूअस एंड कॉम्प्रिहेंसिव इवैल्यूएशन (सीसीई) सिस्टम को हटाने का फैसला किया है जिसके बाद इस साल से 10वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा दोबारा से शुरू की गई. 10वीं परीक्षा भारत में 4,453 और देश से बाहर 78 केंद्रों पर आयोजित की जाएंगी. इसी तरह 12वीं की परीक्षा भारत में 4,138 और विदेशों में 71 केंद्रों पर आयोजित की जाएगी.

चॉकलेट ले जा सकेंगे डायबीटिक छात्र

बोर्ड परीक्षा के दौरान डायबीटिज टाइप- 1 से पीड़ित छात्र परीक्षा में शुगर की दवा, चॉकलेट, कैंडी, केला, संतरा, सेब, सैंडविच व पानी की छोटी बोतल ले जा सकेंगे. इस बारे में सीबीएसई ने स्पष्ट निर्देश जारी किए हैं.

सीबीएसई अधिकारी ने कहा, ‘बोर्ड ने देश भर में आसानी से परीक्षा लेने के लिए राज्यों के अथॉरिटी व लोकल पुलिस के साथ मिलकर पर्याप्त व्यवस्थाएं की है.’ डायबीटिज से पीड़ित छात्रों को परीक्षा केंद्रों में खाने पीने की चीजें रखने की मंजूरी दी गई है.

इस साल से सीबीएसई विशेष जरूरतों वाले छात्रों को लैपटॉप की मदद से परीक्षा देने की भी मंजूरी दे रहा है लेकिन परीक्षा केंद्र पर कंप्यूटर शिक्षक उनके लैपटॉप की जांच करेंगे और इंटरनेट कनेक्शन की मंजूरी नहीं होगी. 10 वीं और 12वीं की परीक्षाओं के लिए शारीरिक रूप से अक्षम क्रमश: 4,510 और 2,846 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है.

मिल सकती है स्क्राइब की सुविधा

-सीबीएसई ने अपने परीक्षा उपनियमों में इस बार से अहम बदलाव किया है. इसके तहत परीक्षा के दौरान अगर छात्र बीमार हो जाते हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें प्रश्न पत्र हल करने के लिए स्क्राइब (लिपिक) की सुविधा मिलेगी.

-इस सुविधा का लाभ लेने के लिए अचानक बीमार छात्र को असिस्टेंट सर्जन स्तर के चिकित्सा अधिकारी की तरफ से जारी मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा.

-इसके बाद वे जूनियर विद्यार्थी का स्क्राइब के तौर पर प्रयोग कर सकेंगे. ऐसे विद्यार्थियों को सीबीएसई अतिरिक्त समय के साथ-साथ एक अलग रूम उपलब्ध कराएगा. यहां निगरानी के लिए एक अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi