S M L

CBI Vs CBI: आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर CVC ने सौंपी रिपोर्ट, शुक्रवार को अगली सुनवाई

इससे पहले 26 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने सीवीसी को आलोक वर्मा पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच 2 हफ्तों के भीतर पूरी करने के लिए कहा था

Updated On: Nov 12, 2018 12:50 PM IST

FP Staff

0
CBI Vs CBI: आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर CVC ने सौंपी रिपोर्ट, शुक्रवार को अगली सुनवाई

सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के मामले में सीवीसी की जांच रिपोर्ट सौपें जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने  शुक्रवार तक के लिए मामले की सुनवाई टाल दी है. अब इस मामले पर अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी. सीवीसी की रिपोर्ट सोमवार को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच को सील बंद लिफाफे में सौंपी गई. वहीं सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव ने भी एजेंसी प्रमुख के तौर पर 23 अक्टूबर के बाद से लिए गए अपने फैसलों पर रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल की

इससे पहले 26 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने सीवीसी को आलोक वर्मा पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच 2 हफ्तों के भीतर पूरी करने के लिए कहा था. वर्मा और अस्थाना को केन्द्र सरकार ने छुट्टी पर भेजा हुआ है.

सीवीसी के सामने पेश हुए थे आलोक वर्मा और रोकेश अस्थाना

इससे पहले जांच के दौरान आलोक वर्मा सीवीसी के सामने पेश हुए थे जहां उन्होंने अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीवीसी को जवाब दिया था. इस दौरान उन्होंने रिश्वत लेने सहित अन्य सभी आरोपों को खारिज किया था. सीवीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के सामने आलोक वर्मा का बयान रिकॉर्ड किया गया.  इसके बाद सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना भी सीवीसी के सामने पेश हुए थे. आलोक वर्मा के खिलाफ यह जांच राकेश अस्थाना की शिकायत पर हो रही है.

क्या है पूरा मामला?

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने शिकायत दर्ज कराई थी.

दरअसल सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने हैदराबाद के व्यापारी सतीश सना से 3 करोड़ रुपए की कथित रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ केस दर्ज करवाया था. इसके बाद राकेश अस्थाना ने सीबीआई निदेशक पर ही इस मामले में आरोपी को बचाने के लिए 2 करोड़ रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाया था.

दोनों अफसरों के बीच की ये लड़ाई सार्वजनिक हो गई तो केंद्र सरकार ने इसमें दखल दिया और उन्हें छुट्टी पर भेज दिया. वहीं कई अफसरों का ट्रांसफर भी कर दिया गया है. अब सीवीसी दोनों अफसरों के खिलाफ जांच कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi