S M L

लालू पर सीबीआई छापे के बाद सीएम नीतीश ने बुलाई आपात बैठक

जेडीयू प्रवक्ताओं को लालू पर न बोलने का फरमान जारी किया गया है.

Updated On: Jul 07, 2017 10:28 AM IST

FP Staff

0
लालू पर सीबीआई छापे के बाद सीएम नीतीश ने बुलाई आपात बैठक

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी और बेटों के खिलाफ शुक्रवार को सीबीआई द्वारा मामला दर्ज किया गया. साथ ही दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम में उनके करीब 12 ठिकानों पर छापा भी मारा गया है.

इसे देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपात बैठक बुलाई है. बताया जा रहा है कि जेडीयू ने मुसीबत में फंसे लालू यादव का समर्थन करने का फैसला किया है. वहीं सीबीआई थोड़ी देर में लालू यादव के ठिकानों पर की गई छापेमारी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेगी.

सूत्रों के मुताबिक, जेडीयू प्रवक्ताओं को लालू पर न बोलने का फरमान जारी किया गया है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक 2006 में तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बिहार के उप मुख्यमंत्री और उनके बेटे तेजस्वी यादव, आईआरसीटीसी के तत्कालीन एमडी पी के गोयल, यादव के विश्वासपात्र प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सुजाता और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. गुप्ता कॉर्पोरेट मामलों के पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं.

cbi raid

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इन सभी लोगों पर रांची और पुरी में रेलमंत्रालय द्वारा होटल बनाने के लिए जारी टेंडर में धांधली का आरोप है. उस दौरान लालू यादव रेल मंत्री थे.

लालू यादव को शुक्रवार को ही चारा घोटाले में भी सीबीआई कोर्ट में पेश होना है. 1996 में पशुओं के चारा के नाम पर 950 करोड़ रुपये सरकारी खजाने से फर्जीवाड़ा करके निकाल लिये जाने का मामला उजागर हुआ था. इसमें 44 से अधिक मामले दर्ज किये गये थे. इन्हीं में झारखंड में देवघर व डोरंडा का मामला भी शामिल हैं. इससे पहले वह 6 जून को चारा घोटाले के एक मामले में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद की पटना के सीबीआई कोर्ट में पेशी हुई थी.

इससे पहले 16 मई को लालू यादव के दिल्ली-गुरुग्राम स्थित 22 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी. ये छापेमारी भी जमीन सौदों को लेकर की गई थी. आरोप है कि 1 हजार करोड़ का बेनामी जमीन का सौद किया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi