S M L

प्रमोशन के लिए CBI की डिप्टी लीगल एडवाइजर ने किया फर्जीवाड़ा, केस दर्ज

व्यापमं केस में सीबीआई की डिप्टी लीगल एडवाइजर बीना रायजादा के खिलाफ सीबीआई ने मामला दर्ज किया है

Updated On: Nov 14, 2018 11:41 AM IST

FP Staff

0
प्रमोशन के लिए CBI की डिप्टी लीगल एडवाइजर ने किया फर्जीवाड़ा, केस दर्ज

व्यापमं केस में सीबीआई की डिप्टी लीगल एडवाइजर बीना रायजादा के खिलाफ सीबीआई ने मामला दर्ज किया है. उनके खिलाफ अपनी एनुअल परफॉर्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट (APAR) में छेड़छाड़ करने को लेकर मामला दर्ज किया गया है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, रायजादा के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल करने को लेकर मामला दर्ज किया गया है.

2014 से 2016 तक रायजादा के सीनियर्स ने उनकी परफॉर्मेंस को कुछ खास नहीं माना, जिस कारण अपनी रेटिंग को 'एक्सीलेंट' दिखाने के लिए उन्होंने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया है. यही नहीं उन्होंने कथित रूप से दस्तावेजों पर अपने डिपार्टमेंट हेड के हस्ताक्षर तक किए. सूत्रों के मुताबिक, ये मामला तब सामने आया, जब रायजादा के APAR की जांच की गई. उन्होंने खुद से दिल्ली में सीबीआई मुख्यालय में दस्तावेज जमा कराए थे. जिसके बाद ये सामने आया कि जिस 90 दिन के पीरियड में वो ऑफिस में मौजूद भी नहीं थी उसमें भी उनका अप्रेजल लगा हुआ था.

एफआईआर के मुताबिक, रायजादा ने 2014 में बतौर सीनियर पब्लिक प्रोसेक्यूटर के रूप में सीबीआई ज्वाइन की थी. छह महीने के भीतर उन्हें डिप्टी लीगल एडवाइजर के रूप में प्रमोट भी किया गया था. पटना में 2014 में सीबीआई की एंटी करप्शन ब्रांच ज्वाइन करने के बाद उन्होंने जनवरी 2016 में दिल्ली में एंटी करप्शन यूनिट VI ज्वाइन की थी. जो कि व्यापम मामले की जांच कर रही है. रायजादा ने 2014, 2015 और 2016 के अपने APAR दिल्ली में सीबीआई के डिपार्टमेंट ऑफ प्रॉसिक्यूशन में खुद से जमा कराए थे. जिनमें सभी पर ब्रांच के पटना हेड डीआईजी वी के सिंह के हस्ताक्षर मौजूद थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi