S M L

तमिलनाडु: कावेरी मुद्दे पर भूख हड़ताल पर बैठे सीएम और डिप्टी सीएम

एआईएडीएमके के इन दोनों वरिष्ठ नेताओं का वहां जाना इसलिए हैरतभरा रहा क्योंकि पार्टी ने पहले कहा था कि उन दोनों को छोड़ कर बाकी सभी नेता अनशन में शामिल होंगे

Updated On: Apr 03, 2018 03:44 PM IST

Bhasha

0
तमिलनाडु: कावेरी मुद्दे पर भूख हड़ताल पर बैठे सीएम और डिप्टी सीएम

एआईएडीएमके के वरिष्ठ नेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी केंद्र द्वारा कावेरी प्रबंधन बोर्ड का गठन नहीं करने के विरोध में मंगलवार को अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ एक दिन के अनशन पर बैठ गए. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड के गठन का आदेश दिया था.

पलानीस्वामी के बाद उपमुख्यमंत्री और एआईएडीएमके के समन्वयक ओ पन्नीरसेल्वम भी यहां चेपौक में अनशन स्थल पर पहुंचे. एआईएडीएमके के इन दोनों वरिष्ठ नेताओं का वहां जाना इसलिए हैरतभरा रहा क्योंकि पार्टी ने पहले कहा था कि उन दोनों को छोड़ कर बाकी सभी नेता अनशन में शामिल होंगे.

एआईएडीएमके ने एक बयान में कहा, ‘यह अनशन सीएमबी का गठन नहीं करने को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना करने के लिए किया जा रहा है.’

एआईएडीएमके के जिला वार सहभागियों की सूची में पलानीस्वामी और पन्नीरसेल्वम का नाम शामिल नहीं था.

पन्नीरसेल्वम ने संवाददाताओं से कहा कि एआईएडीएमके का अनशन सफल होगा.

यहां एक दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठने वालों में मत्स्य मंत्री डी जयकुमार, एआईएडीएमके के अध्यक्ष मंडल दल के अध्यक्ष ई मधुसूदनन सहित अन्य नेता शामिल थे.

विभिन्न जिलों में आयोजित अनशन में उन जिलों के प्रतिनिधि, मंत्री और वरिष्ठ नेता शामिल हुए.

एआईएडीएमके के एक दिन के अनशन के अलावा मंगलवार को कई मजदूर संगठनों ने एक दिन के तमिलनाडु बंद का भी आह्वान किया है. इसकी वजह से पूरे तमिलनाडु में लगभग 21 लाख दुकानें बंद रहीं. टीटीवी दिनाकरण ने त्रिची एयरपेर्ट तक किसानों के साथ एक मार्च निकाला. दिनाकरण ने हाल ही में अम्मा मुनेत्र कझगम नामक नई पार्टी बनाई है. तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके ने 5 अप्रैल को तमिलनाडु बंद का ऐलान किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi