S M L

कैट 2018: अगस्त से रजिस्ट्रेशन, नवंबर में परीक्षा, जानें कैसे करें तैयारी

कैट सबसे प्रतिष्ठित और प्रतिस्पर्धी प्रबंधन प्रवेश परीक्षा में से एक है. यह परीक्षा एमबीए उम्मीदवारों के लिए 20 आईआईएम समेत 100 से अधिक शीर्ष बी-स्कूलों में प्रवेश के रास्ते बनाता है

Updated On: Jun 26, 2018 11:20 AM IST

Vikas Gaur

0
कैट 2018: अगस्त से रजिस्ट्रेशन, नवंबर में परीक्षा, जानें कैसे करें तैयारी
Loading...

वर्ष 2018 के लिए कॉमन एडमिशन टेस्ट या कैट परीक्षा की घोषणा कर दी गई है. बस छह महीने बाद ही अब कैट परीक्षा होने वाली है. भारतीय प्रबंधन संस्थान, कलकत्ता (आईआईएम-सी) 25 नवंबर 2018, रविवार को इस परीक्षा का आयोजित करेगा. ये परीक्षा ऑनलाइन लिया जाएगा. कैट सबसे प्रतिष्ठित और प्रतिस्पर्धी प्रबंधन प्रवेश परीक्षा में से एक है. यह परीक्षा एमबीए उम्मीदवारों के लिए 20 आईआईएम समेत 100 से अधिक शीर्ष बी-स्कूलों में प्रवेश के रास्ते बनाता है. लगभग 2 लाख उम्मीदवार आईआईएम के लगभग 5000 सीटों के लिए हर साल परीक्षा देते हैं.

अकादमिक विशेषज्ञ सुझाव देते है कि आदर्श रूप से छह महीने की समर्पित तैयारी इस परीक्षा में बेहतर नंबर हासिल करने के लिए आवश्यक है. कैट 2017 टॉपर मयंक राज, जिन्होंने 100 प्रतिशत नंबर ला कर इस परीक्ष में सर्वोच्च स्थान हासिल किया था, कहते हैं, " परीक्षा से ठीक पांच से छह महीने पहले मैंने जून 2017 में कैट की तैयारी शुरू की."

दिलचस्प बात यह है कि कैट परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले अधिकांश उम्मीदवारों को पता रहता है कि परीक्षा की तैयारी कब शुरू करनी है, लेकिन तैयारी की रणनीति बनाने में वे असफल हो जाते हैं. नतीजतन, उनका नंबर कम हो जाता है. इसलिए, बेहतर नतीजा हासिल करने के लिए, उम्मीदवारों को निम्नलिखित बातों पर विचार करना चाहिए:

परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम के बारे में जानें

परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम को जानना कैट तैयारी का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है, क्योंकि यदि आप परीक्षा के पैटर्न, मार्किंग स्कीम और परीक्षा में शामिल सभी विषयों के बारे में जानते हैं, तो आप उन विषयों को पढ़ने में अपना वक्त नहीं खराब करेंगे, जिन्हें पढ़ने की जरूरत आपको वाकई नहीं है. इससे आपका बहुत सारा समय बच जाएगा और आप उन विषयों पर अधिक ध्यान केंद्रित कर सकेंगे, जो परीक्षा का एक अभिन्न हिस्सा हैं.

हालांकि आईआईएम हर साल परीक्षा की अधिसूचना जारी करने के साथ-साथ कैट परीक्षा पैटर्न की भी घोषणा करता है, लेकिन इसके कैट सिलेबस उपलब्ध नहीं है. कैट पेपर में तीन वर्गों से प्रश्न शामिल किए जाते हैं- क्वांटिटेटिव एबिलिटी, वर्बल एबिलिटी और रीडिंग कम्प्रीहेंशन और रिजनिंग.

कोचिंग या सेल्फ-स्टडी - आप खुद तय करें

जहां कोचिंग आपके टेस्ट स्कील तेज करने में मदद करता है, वहीं तैयारी का मूल स्वाध्याय यानी सेल्फ-स्टडी है. इसके अलावा, कोचिंग की आवश्यकता है या नहीं, यह निर्णय पूरी तरह इस बात पर निर्भर करता है कि आप तैयारी के मामले में कहां खड़े हैं. यदि आपका बेसिक मजबूत है और आपको लगता है कि आप कोचिंग के बिना खुद को इस बड़ी परीक्षा के लिए तैयार कर सकते हैं, तो आप सेल्फ-स्टडी का रास्ता चुन सकते है. हालांकि, अपनी तैयारी के बाद भी, मॉक टेस्ट के लिए किसी भी एमबीए कोचिंग संस्थान में नामांकन कराना एक अच्छा विचार है.

सैंपल मॉक टेस्ट इंटरनेट पर भी उपलब्ध हैं. यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप कोचिंग संस्थान में शामिल होना चाहते हैं या खुद से तैयारी करना चाहते हैं. आप ऑनलाइन कोचिंग कक्षा के विकल्प पर भी विचार कर सकते है, जो आपको आपकी सुविधा के अनुसार क्लास करने का लचीलापन देता है. ये विकल्प आमतौर पर नियमित क्लासरूम कोचिंग क्लासेज से सस्ता है.

यदि आपका गणित का बेसिक मजबूत है और भाषाई कौशल पर आपकी पकड़ है, तो निश्चित रूप से आपके पास कैट में एक अच्छा मौका है. मानेक दारुवाला, टी.आई.एम.ई. निदेशक कहते हैं, "सबसे महत्वपूर्ण पहलू बुनियादी बातों (बेसिक कॉन्सेप्ट) में सुधार करना है. तैयारी के इस चरण के दौरान विषयों में सुधार करने के लिए फोकस्ड तैयारी महत्वपूर्ण है."

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कोचिंग या सेल्फ-स्टडी के जरिए परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. आपको नियमित रूप से प्रैक्टिस (अभ्यास) करने की आवश्यकता होगी. कैट 2017 के 20 टॉपर्स में से एक छवि गुप्ता कहती हैं, "मैंने ऑनलाइन उपलब्ध मॉक टेस्ट का कड़ा अभ्यास किया था. मैंने लगभग 35 प्रैक्टिस पेपर हल किए और उनका गंभीरता से विश्लेषण किया था." कैट में सफलता के लिए लगातार प्रैक्टिस करना महत्वपूर्ण उपायों में से एक है.

विषय-वार तैयारी करना आवश्यक है

परीक्षा के प्रत्येक सेक्शन (वर्बल एबिलिटी और रीडिंग कंप्रीहेंशन, डेटा इंटरप्रीटेशन और लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटेटिव एबिलिटी) पर अलग-अलग ध्यान केंद्रित करना जरूरी है, क्योंकि प्रत्येक सेक्शन के लिए समय निश्चित है और आप जब चाहे तब, एक सेक्शन से दूसरे सेक्शन में स्वीच नहीं कर सकते हैं. इसलिए, आपको प्रत्येक सेक्शन (विषय) में अधिकतम अंक प्राप्त करने के लिए पूर्ण समय का उपयोग करना चाहिए ताकि आपका समग्र प्रतिशत (नंबर) अधिक से अधिक हो.

कैट तैयारी के लिए किताबें जरूर पढ़नी चाहिए

जब कैट जैसी परीक्षा के लिए तैयारी की बात हो तब किताबें इसके लिए सबसे अच्छा स्रोत हैं. आपको कैट तैयारी के लिए आवश्यक सर्वश्रेष्ठ किताबों के बारे में जानना चाहिए. कैट तैयारी के लिए बाजार में बहुत सारी किताबें उपलब्ध है, लेकिन सबसे अधिक अनुशंसित किताबें है-

• टाटा मैकग्रा हिल द्वारा प्रकाशित अरुण शर्मा की 'हाऊ टू प्रीपेयर फॉर क्वांटिटेटिव एबिलिटी फॉर कैट'- कैट उम्मीदवारों के लिए इस पुस्तक की सबसे ज्यादा अनुशंसा की जाती है (क्वांटिटेटिव एबिलिटी के लिए).

• वर्ड पावर मेड ईजी, नॉर्मन लुईस, वीएआरसी सेक्शन के लिए.

• वीएआरसी सेक्शन के लिए ही, बैरंस पॉकेट गाइड टू वोकाब्यूलरी.

• अरुण शर्मा और मीनाक्षी उपाध्याय (टाटा मैकग्रा-हिल) की हाऊ टू प्रीपेयर फॉर द वर्बल एबिलिटी एंड रीजनिंग कंप्रीहेंशन फॉर कैट. यह किताब पिछले कैट प्रश्न पत्रों के आधार पर प्रैक्टिस सेट और टिप्स भी देता है.

• टाइम पब्लिशर: पीयर्सन द्वारा प्रकाशित कैट और अन्य एमबीए परीक्षाओं के लिए तृष्णाज वर्बल एबिलिटी एंड लॉजिकल रीजनिंग.

समय प्रबंधन ही सफलता की कुंजी है

चूंकि, कैट में प्रत्येक सेक्शन समयबद्ध है, इसलिए परीक्षा अवधि के दौरान उचित समय प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. प्रत्येक सेक्शन को हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 60 मिनट मिलते हैं. यदि आप परीक्षा की तैयारी करते समय अभ्यास करते हैं, तो आपको परीक्षा के दिन इसका बड़ा फायदा मिलेगा. आपको पहले से ही तय समय में प्रश्नों को हल करने की आदत रहेगी. परीक्षा में तीन सेक्शन होंगे - वीएआरसी, डीआईएलआर और क्यूए. इसमें 100 प्रश्न होंगे (एमसीक्यू और नन एमसीक्यू दोनों) और 3 घंटे में इसे हल करना होगा.

अधिक से अधिक मॉक टेस्ट हल करें

मॉक टेस्ट को हल करना और अपने प्रदर्शन का बारीकी से विश्लेषण करना कैट तैयारी करने का सबसे अच्छा तरीका है. सैंपल मॉक टेस्ट पेपर या तो इंटरनेट पर उपलब्ध है या आप किसी भी एमबीए कोचिंग संस्थान में इसके लिए नामांकन करा सकते हैं. मॉक टेस्ट में शामिल होने से आपको सटीक परीक्षा पैटर्न और असली परीक्षा के दौरान आपके सामने आने वाले प्रश्नों को समझने में मदद मिलेगी. कैट 2017 में 99.63 प्रतिशत और एमएएच सीईटी 2018 में 99.96 प्रतिशत नंबर लाने वाले रोहन जोशी कहते हैं, "कैट तैयारी का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है मॉक टेस्ट."

कैट 2018 के बारे में

आईआईएम कलकत्ता कैट 2018 परीक्षा का संचालन कर रहा है. इस साल प्रोफेसर सुमंता बसु कैट 2018 के संयोजक हैं. परीक्षा 25 नवंबर, 2018, रविवार को भारत में 140 से अधिक परीक्षा केंद्रों पर ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी. कैट के लिए रजिस्ट्रेशन अगस्त 2018 में शुरू होने की उम्मीद है. पिछले साल 2.31 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था और लगभग 2 लाख छात्र परीक्षा में बैठे.

आईआईएम के अलावा, देश के कई शीर्ष बी-स्कूल अपनी प्रवेश प्रक्रिया के लिए कैट स्कोर को स्वीकार करते हैं. इस सूची में एफएमएस, एमडीआई, जेबीआईएमएस, डीएमएस आईआईटी दिल्ली, एसपीजेआईएमआर आदि जैसे संस्थान शामिल हैं.

(इस संबंध में और अधिक जानकारी के लिए Careers360.com पर क्लिक करें)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi