live
S M L

नोटबंदी के प्रभावों को ऑडिट करेगा कैग

कैग के ऑडिट में नोटों की छपाई पर खर्च, रिजर्व बैंक के डिविडेंट और बैंकिंग लेनदेन के आंकड़ों को शामिल किया जाएगा

Updated On: Mar 26, 2017 06:18 PM IST

Bhasha

0
नोटबंदी के प्रभावों को ऑडिट करेगा कैग

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की योजना नोटबंदी के प्रभाव का ऑडिट करने और इसके सरकार के रेवेन्यू पर पड़े असर का आकलन करने की है. कैग शशिकांत शर्मा ने यह बात कही.

उन्होंने कहा कि ऑडिटर नई जीएसटी व्यवस्था के तहत टैक्स रेवेन्यू को भी ऑडिट करने की तैयारी कर रहा है. इसके अलावा उसने क्षमता निर्माण और अपने ऑडिट के तरीके और प्रक्रियाओं का पुनर्गठन शुरू किया है.

विशेष ऑडिट के तहत कैग ने पहले ही कृषि फसल योजना तथा बाढ़ नियंत्रण और बाढ़ अनुमान का ऑडिट पूरा कर लिया है. अब वह शिक्षा के अधिकार, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, रक्षा पेंशन, गंगा पुनरोद्धार का ऑडिट कर रहा है. शर्मा ने कहा कि इनकी ऑडिट रिपोर्ट चालू साल के अंत तक तैयार हो जाएंगी.

नोटों की छपाई पर हुए खर्च की जांच करेगा कैग 

शर्मा ने जोर देकर कहा कि कैग के पास सरकार के रेवेन्यू और खर्च से किसी तरह का संबंध रखने वाले संस्थानों के ऑडिट का अधिकार है.

उन्होंने कहा कि हमारी योजना नोटबंदी के फाइनेंसियल प्रभाव से संबंधित कुछ मुद्दों को ऑडिट करने की है. विशेषरूप से इसके कर राजस्व पर पड़ने वाले असर को लेकर.

सरकार ने पिछले साल आठ नवंबर को 500 और 1,000  रुपए का नोट बंद करने की घोषणा की थी. इसके अलावा पुराने नोटों में बेहिसाबी धन रखने वालों के लिए कर माफी योजना भी शुरू की है.

कैग के ऑडिट में नोटों की छपाई पर खर्च, रिजर्व बैंक के डिविडेंट और बैंकिंग लेनदेन के आंकड़ों को शामिल किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi