S M L

बुराड़ी मौत मामला: रात 10.40 में खाना देकर निकला था डिलिवरी बॉय, उसके बाद क्या हुआ?

पुलिस ने उस शख्स के परिजनों से भी पूछताछ की तैयारी की है जिसकी शादी भाटिया परिवार में होनी थी. कॉल डेटा रिकॉर्ड्स और इंटरनेट की सर्च हिस्ट्री भी खंगाली जा रही है

Updated On: Jul 02, 2018 11:29 AM IST

FP Staff

0
बुराड़ी मौत मामला: रात 10.40 में खाना देकर निकला था डिलिवरी बॉय, उसके बाद क्या हुआ?
Loading...

बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने जांच तेज कर दी है. घर से मिली डायरी और उसमें लिखी बातों को लेकर मामला और उलझ गया है. डायरी की लिखावट किसकी है, इसे लेकर तफ्तीश जारी है.

क्राइम ब्रांच के सूत्रों की मानें तो पुलिस ने फिलहाल अपना सारा ध्यान हैंडराइटिंग (तंत्र से जुड़ी बातें) की जांच पर फोकस किया है. ऐसी बातें क्यों लिखी गईं और सूचनाएं कहां से लाई गईं, इस पर हर एंगल से जांच की जा रही है.

पुलिस ने उस शख्स के परिजनों से भी पूछताछ की तैयारी की है जिसकी शादी मृतकों के परिवार में होनी थी. कॉल डेटा रिकॉर्ड्स और इंटरनेट की सर्च हिस्ट्री भी खंगाली जा रही है.

क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने यह भी बताया कि सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि रात के 10.40 बजे घर में एक डिलिवरी बॉय खाना पहुंचाने आया था. उसके बाद अगले दिन सुबह में जब एक स्थानीय व्यक्ति उस घर में दाखिल हुआ और मौत की खबर लगी, इस दरम्यान उस घर से कोई व्यक्ति न तो बाहर गया और न कोई अंदर आया.

अमरीक सिंह नाम के एक पड़ोसी ने बताया कि परिवार की किराने की दुकान हर रोज सुबह छह बजे खुल जाती थी और तभी बंद होती थी जब गली में रहने वाले सारे लोग सोने चले जाते थे. उस दिन सुबह सात बजे तक दुकान नहीं खुली तो सभी को हैरत हुई.

अमरीक के पिता गुरचरण सिंह ने कहा, ‘दूध वाला दुकान के बाहर आया था. कुछ पड़ोसी वहां इकट्ठा हुए थे क्योंकि वैन का ड्राइवर बार-बार हॉर्न बजा रहा था. मैंने मेन गेट खोला और सीढ़ियों पर चढ़कर ऊपर गया तो मैंने जो कुछ देखा उससे दंग रह गया.’

देवेश नाम के एक अन्य पड़ोसी ने बताया, ‘कोई छोटा-मोटा सामान मांगने पर वे कभी-कभी सुबह 5:30 में भी दुकान खोल देते थे. पास में रहने वाला चाय वाला उनका पहला ग्राहक होता था क्योंकि वह दूध खरीदने आता था.’ स्थानीय लोगों ने भाटिया परिवार को गली में रहने वाला ‘सबसे बड़ा परिवार’ बताया.

एक पड़ोसी ने कहा, ‘वे यहां 22 साल से ज्यादा समय से रह रहे थे. हमने उन्हें कभी झगड़ते या किसी पड़ोसी को नुकसान पहुंचाते नहीं देखा.’

(इनपुट भाषा से)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi