S M L

बुराड़ी कांड से पर्दा उठाने में दिल्ली पुलिस को क्यों पसीने छूट रहे हैं?

पुलिस ने अपने तेज-तर्रार अधिकारियों की एक टीम इस केस को सुलझाने में लगा दी है. इसके बावजूद कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jul 02, 2018 11:04 PM IST

0
बुराड़ी कांड से पर्दा उठाने में दिल्ली पुलिस को क्यों पसीने छूट रहे हैं?

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक घर से मिले 11 शवों की गुत्थी को सुलझाने में दिल्ली पुलिस के पसीने छूट रहे हैं. पुलिस ने अपने तेज-तर्रार अधिकारियों की एक टीम इस केस को सुलझाने में लगा दी है. इसके बावजूद कोई सुराग नहीं मिल पाया है. पुलिस की क्राइम ब्रांच परिवार से जुड़े हर उस शख्स से पूछताछ कर रही है, जिसकी पिछले तीन-चार दिनों में परिवार के सदस्यों से या तो मुलाकात या फिर बातचीत हुई थी.

ऐसी खबर मिल रही है कि पुलिस जेल में बंद एक तांत्रिक से भी पूछताछ कर रही है. अंदेशा है कि इन सारे लोगों ने कहीं इसी तांत्रिक के बहकावे में आकर खुदकुशी तो नहीं की है. साथ ही घर में पूजा-पाठ कराने वाले कुछ पंडितों से भी पूछताछ की जा रही है.

कई एंगल पर जांच कर रही पुलिस टीम

बुराड़ी में हुए इस सामूहिक मौत के मामले की पुलिस की क्राइम ब्रांच कई एंगल से जांच कर रही है. क्राइम ब्रांच के अधिकारी परिवार से जुड़े हर उस शख्स से बारीकी से पूछताछ कर रहे हैं, जो परिवार से किसी न किसी रूप में जुड़ा हुआ था. चाहे वह मजदूर हो या फिर मकान का रंगाई-पुताई करने वाला हो या फिर मकान बनाने वाला कारीगर ही क्यों न हो.

पुलिस सभी लोगों से पूछताछ कर परिवार की मानसिक स्थिति और उनके बातचीत करने के तौर-तरीकों को भी समझना चाह रही है. सोमवार को आई शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में 6 लोगों की मौत फांसी पर झूलने की वजह से होने की बात सामने आई है, जबकि 5 लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट देर रात या मंगलवार सुबह तक आने का अनुमान है.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस मामले में परिवार से जुड़े कुछ ऐसे लोगों से भी पूछताछ की जा रही है, जो पिछले काफी सालों से परिवार के संपर्क में नहीं थे. परिवार के पुराने रिकॉर्ड और पूरी संपत्ति का ब्योरा हासिल किया जा रहा है. दिल्ली पुलिस घर के सभी सदस्यों के मोबाइल डिटेल्स और उन पर हुई बातचीत का पूरा रिकॉर्ड्स खंगाल रही है. दिल्ली पुलिस की एक टीम परिवार का पुस्तैनी घर राजस्थान भी जाने वाली है.

परिवार के ही किसी वरिष्ठ पर भी शक की सुई

Delhi Burari 11 deaths

दिल्ली पुलिस के मुताबिक रविवार को जहां पर 10 लोगों के शव लटकते मिले उसके पास वाले एक कमरे से ही दो रजिस्टर भी बरामद हुए हैं. दोनों रजिस्टर में हाथ से लिखे कुछ नोट्स हैं. पुलिस सूत्रों का यह भी कहना है कि परिवार के किसी एक बड़े शख्स ने एक-एक कर के पहले सभी को मारा फिर खुद उसी अंदाज में खुदकुशी कर ली.

हाल ही में दिल्ली पुलिस से रिटायर हुए एक ज्वाइंट कमिश्नर लेवल के अधिकारी फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बातचीत में कहते हैं, दिल्ली पुलिस यह मान चुकी है कि यह आत्महत्या का केस है. एक घर के भीतर इतने बड़े स्तर पर हत्याएं कोई बाहरी आदमी नहीं कर सकता है. बाहर का कोई भी आदमी अगर इस तरह की हत्या करता तो कहीं न कहीं उसका साक्ष्य भी छोड़ जाता. क्योंकि मामला आध्यात्म, धर्म और तंत्र-मंत्र से जुड़ा हुआ है इसलिए मामले में इतना पेंच फंस रहा है.

मनोचिकित्सक एस.टंडन के अनुसार, यह प्रतीत होता है कि परिवार मोक्ष प्राप्ति के लिए जादू-टोने के प्रैक्टिस में शामिल था. परिवार का सबसे प्रमुख सदस्य इससे प्रभावित था जिसे बाकी लोग फॉलो करते थे.

क्या है 11 प्लास्टिक पाइप का रहस्य

सोमवार को परिवार के घर की दीवार पर 11 पाइप बाहर निकले हुए पाए गए हैं. जो बात चौंकाती है वो यह कि इन पाइपों में से 7 नीचे की तरफ मुड़े हुए हैं जबकि 4 के मुंह सीधे हैं. अब पुलिस घर में पाइप को फिट करने वाले उस कारीगर की भी तलाश कर रही है.

दरअसल जिस घर में यह हादसा हुआ उस घर की दीवार एक खाली प्लॉट से सटी हुई है. इस दीवार में प्लास्टिक के 11 पाइप दीवार से बाहर निकले हुए हैं. इस घर में निर्माण कार्य चल रहा था लेकिन एकसाथ 11 पाइप का क्या माजरा है यह किसी को समझ में नहीं आ रहा है.

घर की तलाशी के दौरान मिली डायरी में हैंड रिटेन नोट (मोक्ष मिलेगा) की जांच करवाई जा रही है. पुलिस अंधविश्वास की ओर इशारा करते इस नोट को लिखने वाले के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है.

रिश्तेदारों ने लगाया हत्या का आरोप

burari

रिश्तेदारों का कहना है कि यह आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या है. परिवार का किसी आध्यात्मिक गुरु के साथ कोई संपर्क नहीं था. उनका कहना है कि किसी ने इन लोगों की हत्या की है.

दूसरी तरफ एसडीएम ने क्राइम ब्रांच को एक रिपोर्ट सौंपी हैं, जिसमें कहा गया है कि पूरा परिवार किताबों के द्वारा तंत्र-मंत्र करता था. वहीं दिल्ली पुलिस का कहना है कि परिवार की एक बेटी की जल्द ही शादी होने वाली थी. 17 जून को ही उसकी सगाई हुई थी. वो इस मामले में शादी करने वाले उस शख्स से पूछताछ करेगी.

वहीं भाटिया परिवार के एक दूर का रिश्तेदार ने सोमवार को एक नया खुलासा किया है. इस दिल दहला देने वाली घटना के बारे में राजस्थान के रावतभाटा निवासी कृष्णा ने भी कई राज खोले हैं. कृष्णा भाटिया परिवार की एक बहू की सहकर्मी रही है और उनका इस परिवार से काफी जुड़ाव रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi