S M L

अयोध्या में राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद बने: शिया बोर्ड

बोर्ड ने एक याचिका दायर करते हुए दावा किया है कि विवादित संपत्ति का वास्तविक स्वामी होने के नाते वह भूमि को लेकर अपने सभी अधिकार छोड़ने को तैयार है

Updated On: Nov 20, 2017 11:06 PM IST

Bhasha

0
अयोध्या में राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद बने: शिया बोर्ड

दशकों पुराने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद के हल के लिए उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष एक प्रस्ताव पेश करते हुए कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद का निर्माण किया जा सकता है.

बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि विभिन्न पक्षों के बीच शांतिपूर्ण निपटारा ‘राष्ट्रीय हित’ में है और इससे देश में हिंदुओं तथा मुस्लिमों के बीच सौहार्द्र बढ़ेगा.

बोर्ड ने एक याचिका दायर करते हुए दावा किया है कि विवादित संपत्ति का वास्तविक स्वामी होने के नाते वह भूमि को लेकर अपने सभी अधिकार छोड़ने को तैयार है ताकि राम मंदिर के निर्माण का रास्ता प्रशस्त हो सके.

बोर्ड ने यह भी कहा कि विवाद को खत्म करने के लिए राज्य सरकार को भी सहयोग करना चाहिए और अयोध्या से बाहर लखनऊ में एक नई मस्जिद के निर्माण के लिए शिया समुदाय को एक एकड़ भूमि आवंटित करनी चाहिए.

बोर्ड ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि हिंदू समुदाय की ऐसी आस्था का सम्मान करते हुए उत्तर प्रदेश सेंट्रल शिया बोर्ड देश के व्यापक हित में राम मंदिर के निर्माण के लिए बाबरी मस्जिद भूमि को लेकर अपने सभी अधिकार छोड़ने को तैयार है ताकि विवाद का अंत हो सके.

सुन्नी बोर्ड पर लगाया गलत दावे का आरोप

उसने कहा कि उसने पहल की है और इस मामले में ‘गैर-मुस्लिम पक्षों’ से बातचीत की है. उसने उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल बोर्ड पर ‘बाबरी मस्जिद पर गलत तरीके से अपना दावा’ करने का आरोप लगाया बोर्ड ने कहा कि सुन्नी बोर्ड की 22 फरवरी 1944 की अधिसूचना में उन्होंने बाबरी मस्जिद को सुन्नी वक्फ के रूप में दर्ज किया था और अदालत ने उसे अमान्य ठहरा दिया है.

शिया बोर्ड ने कहा कि उसने राम जन्मभूमि न्यास और अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्षों सहित विभिन्न हिंदू पक्षकारों के साथ बातचीत और कई बैठकें की हैं और उनके बीच एक समझौता बना है.

बोर्ड ने समझौता प्रस्ताव दाखिल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से अनुमति मांगी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi