S M L

'Breathing is Killing me' दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ लोगों का ऐसे नारों के साथ प्रदर्शन

प्रदूषण पर नजर रखने वालों ने शहर में 8 नवंबर से 10 नवंबर तक भारी वाहनों की इंट्री भी बंद करने की सिफारिश की थी. सोमवार को दिल्ली में सीजन का सबसे खराब एयर क्वालिटी मापी गई. इस दिन प्रदूषण का स्तर सामान्य से दस गुणा ज्यादा हो गया था

Updated On: Nov 06, 2018 10:45 PM IST

FP Staff

0
'Breathing is Killing me' दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ लोगों का ऐसे नारों के साथ प्रदर्शन
Loading...

दिवाली के एक दिन पहले दिल्ली की हवा बेहद खराब आंकी गई. इसका प्रमुख कारण पराली जलाने वाले इलाकों से चल रही हवाएं रहीं. दिल्ली के 25 इलाकों की हवा को बेहद खराब श्रेणी में रखा गया. विशेषज्ञों ने दिवाली के बाद हवा की स्थिति और खराब होने की चेतावनी दी है.

सांस लेने का अधिकार:

दिल्ली में हर साल पर्यावरण की खराब होती स्थिति का विरोध करने के लिए लोग पर्यावरण मंत्रालय के बाहर इकट्ठा हुए. लोगों ने अपने हाथ में 'My Right To Breath','Unbreathable India','Delhi Air is Poisonous', 'Breathing is killing me' जैसे प्लेकार्ड अपने हाथ में लेकर पर्यावरण भवन के आगे प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकर्ताओं का कहना है कि पर्यावरण और लोगों की स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं सरकार नजरअंदाज कर रही है.

न्यूज18 के मुताबिक उन्होंने पर्यावरण मंत्रालय और दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारी को एक चिट्ठी भी दी जिसमें नेशनल क्लिन एयर प्रोग्राम को जल्दी और समय से लागू करने की मांग की गई. लोगों ने सरकार से सवाल किया कि आखिर पर्यावरण सेस और फाइन के नाम पर लिए जा रहे पैसों का सरकार कर क्या रही है. आखिर पर्यावरण को बचाने के लिए कोई दूरगामी समाधान क्यों नहीं लाया जा रहा है.

इमरजेंसी उपाय:

वायु प्रदूषण की समस्या को सुलझाने के लिए केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) ने कहा कि वो कृत्रिम वर्षा का उपाय कर रहे हैं ताकि राजधानी के हानिकारक कणों से बचाव किया जा सके. और इसके लिए प्रदूषण मॉनिटरिंग बॉडी आईआईटी कानपुर और आईएमडी से बातचीत कर रही है.

2016 में सरकार ने कृत्रिम वर्षा के लिए क्लाउड सीडिंग का प्रयोग करने की योजना बनाई थी लेकिन यह योजना लागू नहीं की जा सकी. पिछले साल दिल्ली में हैलिकॉप्टर के जरिए वर्षा कराकर भी स्थिति नियंत्रण में करने की कोशिश की गई थी.

आने वाले दिन और बदतर होंगे:

प्रदूषण पर नजर रखने वालों ने शहर में 8 नवंबर से 10 नवंबर तक भारी वाहनों की इंट्री भी बंद करने की सिफारिश की थी. सोमवार को दिल्ली में सीजन का सबसे खराब एयर क्वालिटी मापी गई. इस दिन प्रदूषण का स्तर सामान्य से दस गुणा ज्यादा हो गया था और शहर में कोहरे की मोटी परत छा गई थी. डॉक्टरों का कहना है कि दिल्ली की हवा रोजाना 15-20 सिगरेट पीने जितनी जहरीली हो गई है.

मंगलवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 320 रिकॉर्ड की गई, जो बेहद खराब की श्रेणी में आता है. सोमवार को एक्यूआई 434 रिकॉर्ड किया गया जो खतरनाक की श्रेणी में आता है, और यह सीजन का सबसे बुरा रिकॉर्ड था.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi