S M L

केरल के मंदिरों में पुजारी के लिए छह दलितों के नाम की सिफारिश

केरल के मंदिरों में पुजारी के तौर पर नियुक्ति के लिए 36 गैर-ब्रह्मणों में छह दलितों के नाम भी सुझाए गए हैं

Updated On: Oct 06, 2017 02:44 PM IST

FP Staff

0
केरल के मंदिरों में पुजारी के लिए छह दलितों के नाम की सिफारिश

देशभर के मंदिरों में दलितों के प्रवेश की लड़ाई रंग ला रही है. सामाजिक बदलाव की प्रक्रिया में केरल बड़ा योगदान देने जा रहा है. यहां के मंदिरों में पुजारी के तौर पर नियुक्ति के लिए 36 गैर-ब्रह्मणों में छह दलितों के नाम भी सुझाए गए हैं.

इन मंदिरों का प्रबंधन त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड (टीडीबी) करता है. एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस संबंध में सुझाव केरल देवस्वम नियुक्ति बोर्ड की ओर से दिए गए हैं. यह पहली बार है जब पुजारी की नियुक्ति के लिए अनुसूचित जाति समुदाय के छह लोगों के नामों की सिफारिश की गई है.

विज्ञप्ति के मुताबिक इन अंशकालिक पुजारियों की नियुक्ति के लिए लोक सेवा आयोग (पीएससी) की तर्ज पर ही आयोजित एक लिखित परीक्षा और साक्षात्कार का आयोजन किया गया था.

चयन में आरक्षण के नियमों का कड़ाई से किया जाएगा पालन 

देवस्वम के मंत्री कदकमपल्ली रामचंद्रन ने स्पष्ट किया था कि इसमें भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं होगी. चयन मेरिट के आधार पर तथा आरक्षण के नियमों का पालन करते हुए किया जाएगा.

पुजारी के कुल 62 पदों पर नियुक्ति के लिए सिफारिश की गई थी, जिसमें 26 अगड़ी जाति से होंगे. टीडीबी कम से कम 1,248 मंदिरों का प्रबंधन करता है जिनमें सबरीमाला के प्रसिद्ध भगवान अयप्पा का मंदिर भी शामिल है.

बोर्ड के अध्यक्ष राजगोपालन नायर ने कहा कि 'त्रावनकोर देवस्वम बोर्ड की स्थापना 1949 में हुई थी और पुजारियों के लिए एससी और ओबीसी के चयन की मांग दशकों से हो रही थी लेकिन इसके काफी विरोध के कारण ऐसा करना संभव नहीं हो सका था लेकिन आज हम ऐसा संभव कर सके हैं.'

नायर के अनुसार, 'लोक सेवा आयोग की प्रक्रिया के तहत ही पुजारियों की नियुक्ति की गई है. अभी ये नियुक्ति प्रक्रिया सिर्फ त्रावनकोर बोर्ड के लिए की गई है लेकिन भविष्य में कोचीन और मालाबार बोर्ड के लिए भी पुजारियों की नियुक्ति भी इसी प्रक्रिया के तहत की जाएगी.'

सबरीमाला अयप्पा मंदिर में दलित पुजारी की नियुक्ति का मामला हाइकोर्ट में है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi