S M L

अगर कल आपको नहीं था BP तो हो सकता है, आज हो गया हो!

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन समेत कई मुख्य हेल्थ केयर एसोसिएशंस ने बीपी को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की है

Updated On: Nov 16, 2017 11:29 AM IST

FP Staff

0
अगर कल आपको नहीं था BP तो हो सकता है, आज हो गया हो!

दुनिया भर में करोड़ों लोग ब्लड प्रेशर के शिकार हैं और इनकी तादाद अब भी बढ़ती जा रही है. 13 नवंबर को अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन समेत कई मुख्य हेल्थ केयर एसोसिएशंस ने बीपी को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की है. जिसके मुताबिक लाखों लोग जो कि कल तक बीपी के मरीज नहीं थे, अगले ही पल से हाई बीपी की श्रेणी में आ जाएंगे.

अभी तक सिस्टोलिक 140 और डाइस्टोलिक 90 (140/90) को हाई बीपी माना जाता था. लेकिन अब नई गाइडलाइंस के मुताबिक, 130/80 को हाई बीपी माना जाएगा. जबकि 120/80 को सामान्य ब्लड प्रेशर माना जाएगा.

गाइडलाइन जारी होने से पहले अमेरिकी के करीब 32 फीसदी (7.3 करोड़) लोग हाई बीपी की श्रेणी में थे. लेकिन अब ये आंकड़ा बढ़कर 10.3 करोड़ अमेरिकी हाई बीपी की श्रेणी में आ जाएंगे. यानी बीपी के मरीजों की संख्या 32 फीसदी से बढ़कर 46 फीसदी हो जाएगी. भारत में भी करीब 20 करोड़ हाई बीपी से जूझ रहे हैं और नई गाइडलाइन का असर यहां भी देखने को मिलेगा.

एपी के मुताबिक, गाइडलाइन में बदलाव किए जाने से हाई बीपी की मरीज महिलाओं की संख्या दोगुनी और पुरुषों की संख्या तीन गुनी बढ़ जाएगी. हालांकि गाइडलाइंस में बदलाव का मतलब ये नहीं है कि जो कोई भी व्यक्ति अभी ताजा श्रेणी में शामिल हुए हैं. उन्हें हाई बीपी की दवाइंयां लेनी पड़े. बल्कि इससे लोगों को हाई बीपी की ओर बढ़ने से रोके जाने के लिए लाया गया है.

पैनल का नेतृत्व करने वाले टूलेन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पॉल व्हेलटन ने कहा कि पहले हमारे कैटेगरी थी 'नॉर्मल' और दूसरी प्रीहाइपरटेंशन. लेकिन नई गाइडलाइंस में तीन स्टेज हैं. एलीवेटेड (129/80), स्टेज वन हाइपरटेंशन (130/80) और स्टेज टू हाइपरटेंशन (140/90) है. गाइडलाइन में कहा गया है कि हाई बीपी की नई परिभाषा का लाभ करीब 25 फीसद आबादी को मिलेगा.

कैसे बच सकते हैं हाई बीपी से...

- नमक का इस्तेमाल कम करें

- ज्यादा तेल-मसाला वाला खाना न खाएं

- पूरी नींद लें और समय से सोएं ताकि सुबह जल्दी उठ सकें

- टहलना शुरू कर दें. मेहनत करने से परहेज न करें

-योग और व्यायाम से बीपी कंट्रोल करने में मदद मिलती है

-रेड मीट और अंडे से परहेज करें

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi