S M L

मुंबई: तलाक पर झूठे साबित हुए पत्नी के सभी आरोप, पति को देगी 50 हजार रुपए

इस मामले में मुंबई हाई कोर्ट ने पति के पक्ष में फैसला सुनाते हुए तलाक को मंजूरी दी और पत्नी को 50 हजार रुपए मुआवजे के तौर पर अपने पति को देने का आदेश दिया

FP Staff Updated On: May 01, 2018 01:44 PM IST

0
मुंबई: तलाक पर झूठे साबित हुए पत्नी के सभी आरोप, पति को देगी 50 हजार रुपए

आमतौर पर कभी भी पति-पत्नी का तलाक होता है तो पति को ही मुआवजे के तौर पर पत्नी को पैसे देने पड़ते हैं. मगर हाल ही में बॉम्बे हाई कोर्ट ने इस चलन से अलग हटकर एक फैसला सुनाया है. इस फैसले के मुताबिक पति को नहीं बल्कि पत्नी को तलाक का मुआवजा देना होगा. दरअसल मुबंई के रहने वाले एक शख्स ने अपनी पत्नी पर आरोप लगाया था कि उसकी पत्नी ने उसके और उसके परिवार के खिलाफ कई झूठे मुकदमे दर्ज कराए हैं. पति का आरोप था कि पत्नी ने  उस पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का झूठा आरोप लगाया है. इतना ही नहीं उसने कैंसर पीड़ित अपनी सास के खिलाफ भी प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

हद तो तब हुई जब पत्नी ने पति के भाई पर आरोप  लगाया कि उसने गुंडे भिजवाकर उस पर हमला करने की कोशिश की है. मगर जल्द ही इस मामले में सच्चाई पुलिस के सामने आ गई.

बॉम्बे हाई कोर्ट ने पति के पक्ष में फैसला सुनाते हुए तलाक को मंजूरी दी और पत्नी को 50 हजार रुपए मुआवजे के तौर पर अपने पति को देने का आदेश दिया.

इससे पहले इस मामले में फैमिली कोर्ट ने पति के खिलाफ फैसला सुनाते हुए तलाक की अर्जी को ना मंजूर कर दिया था. इस के साथ कोर्ट ने पति को 15 हजार रुपए बतौर मुआवजा पत्नी को देने के लिए कहा था. कोर्ट के इस फैसले को खारिज करते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा कि फैमिली कोर्ट  ने इस मामले में बिल्कुल गलत तरह से फैसला सुनाया है. हाई कोर्ट ने कहा की फैमिली कोर्ट की गलती यह थी कि उसने ये केस अलग-अलग तरीके से देखा जबकि इसको एक साथ जोड़कर देखने की जरूरत थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi