S M L

हरे-भरे गार्डन पर शौचालय बनाना चाहती थी BMC, हाईकोर्ट ने लगाई फटकार

2009 में याचिका दायर कर दावा किया गया था कि बीएमसी ने गार्डन और खेल के मैदान के लिए आरक्षित भूखंड पर अवैध रुप से शौचालय बनवा दिए

Updated On: Jan 19, 2018 09:54 PM IST

Bhasha

0
हरे-भरे गार्डन पर शौचालय बनाना चाहती थी BMC, हाईकोर्ट ने लगाई फटकार

बंबई हाईकोर्ट ने मनोरंजन संबंधी गतिविधियों के लिए आरक्षित एक भूखंड पर स्वच्छ भारत अभियान की आड़ में वहां अवैध रुप से शौचालय बनाने को लेकर स्थानीय नगर निकाय को कड़ी फटकार लगाई.

न्यायमूर्ति ए एस ओका और न्यायमूर्ति पी एन देशमुख की खंडपीठ ने बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक आवेदन पर सुनवाई करते हुए ऐसा किया.

अपने आवेदन में बीएमसी ने हाईकोर्ट के 2014 के उस आदेश को वापस लेने की मांग की है जिसमें महानगरपालिका को उपनगरीय बोरिवली में एक भूखंड पर बने शौचालय प्रखंडों को तोड़ने को कहा गया था.

हाईकोर्ट ने तब एक याचिका में सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया था. साल 2009 में याचिका दायर कर दावा किया गया था कि बीएमसी ने गार्डन और खेल के मैदान के लिए आरक्षित भूखंड पर अवैध रुप से शौचालय बनवा दिए.

बीएमसी ने अपने आवेदन में दावा किया है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत केंद्र ने नगर निकायों को उनकी जमीन पर शौचालय बनाने का अधिकार प्रदान किया है.

इस पर न्यायमूर्ति ओका ने कहा, ‘स्वच्छ भारत अभियान की आड़ में आप अवैध काम नहीं कर सकते. यह कानून की परिसीमा में होना चाहिए.’ इस मामले की अगली सुनवाई एक फरवरी को होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi