Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

GST: बीजेपी ने 'मोदी-मोदी', शिवसेना ने 'चोर है-चोर है' के लगाए नारे

बीएमसी के हाउस में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और वित्त मंत्री सुधीर मुनगुंटीवार के सामने एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी हुई

FP Staff Updated On: Jul 06, 2017 09:59 AM IST

0
GST: बीजेपी ने 'मोदी-मोदी', शिवसेना ने 'चोर है-चोर है' के लगाए नारे

जीएसटी के बाद ऑक्ट्रॉय के घाटे की भरपाई करने के लिए जब 647 करोड़ रुपए का पहला चेक लेकर मुंबई म्युनसिपल कमिश्नर को हैंड ओवर करने वित्त मंत्री पहुंचे, तो शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और वित्त मंत्री सुधीर मुनगुंटीवार के सामने ही एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी शुरु हो गई. नारेबाजी इस कदर शुरु हुई कि शिवसेना ने 'मोदी चोर है' तक के नारे लगा दिए.

बीएमसी के हाउस में कहीं ‘मोदी मोदी’ तो कहीं ‘जय भवानी’ ‘जय शिवाजी’ के नारे सुनाई देने लगे. देखते ही देखते हाउस के वेल में लोगों की आवाजे तेज होने लगी और मोदी-मोदी के जवाब में शिवसेना के पार्षदों ने चोर तक का नारा लगा दिया. यह सब उद्धव ठाकरे और सुधीर मुनगुंटीवार की मौजूदगी में हो रहा था.

जीएसटी के बाद आक्ट्रॉय की आय बंद

आपको बता दें कि जीएसटी लागू होने के बाद बीएमसी की आक्ट्रॉय की आय बंद हो गई. जिससे बीएमसी को कम से कम 7 हजार करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा. इसकी भरपाई करने के लिए सरकार ने हर महीने आक्ट्रॉय का अनुमानित आय सरकार को देने का प्रावधान किया. जिसकी पहली किस्त लेकर खुद महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुनगुंटीवार आए थे. हंगामा काफी देर तक चलता रहा. इससे सदन में लोग कुछ बोल नहीं पा रहे थे. सदन सिर्फ नारो से गूंज रहा था.

वित्त मंत्री के भाषण तक तो बीजेपी के पार्षद सभा में मौजूद रहे. लेकिन जैसे ही उद्धव ठाकरे बोलने के लिए उठे बीजेपी के पार्षद हाउस छोड़कर जाने लगे. जिस पर शिवसेना पार्षदों ने आपत्ति जताई तो उद्धव ठाकरे ने मंच से कहा कि जिनको जाना है जाने दीजिए, बस तुम लोग बैठे रहो. जिसके बाद उन्होने अपना भाषण पूरा किया.

बाद में इस मामले पर सुधीर मुनगुंटीवार ने कहा कि पार्षदों के भीतर उत्साह था. इसलिए उन्होंने नारे बाजी की, शिवसेना के साथ उनके कोई मतभेद नहीं हैं. वे हमारी सहयोगी है. लेकिन सदन में जो भी कुछ हुआ एक मधुर संबध वाले सहयोगी से उम्मीद तो नहीं की जा सकती है.

जैसे ही बीएमसी के हाउस में हंगामा हुई. उसकी प्रतिक्रिया कांग्रेस में भी हुई. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौहान ने इसे दोनो के बीच बढ़ते तनाव का रुप बताया और आगे आगे देखो होता है क्या जैसे शब्दो का इस्तेमाल किया. वहीं संजय निरुपम ने शिवसेना के लिए हैसटैग नहीं सुधरेंगे का ट्वीट किया.

(साभार- न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi