S M L

प्रियंका चोपड़ा पर बिफरे विनय कटियार-'रोहिंग्या से हमदर्दी रखने वालों को इस देश से निकालो'

विनय कटियार ने कहा, 'प्रियंका चोपड़ा रोहिंग्यों की हकीकत नहीं जानती. उन्हें रोहिंग्यों से नहीं मिलना चाहिए था'

FP Staff Updated On: May 24, 2018 04:12 PM IST

0
प्रियंका चोपड़ा पर बिफरे विनय कटियार-'रोहिंग्या से हमदर्दी रखने वालों को इस देश से निकालो'

अपने विवादास्पद बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहने वाले बीजेपी के फायर ब्रांड नेता विनय कटियार अब एक बार फिर सुर्खियों में हैं. इस बार उनके निशाने पर यूनिसेफ की ब्रांड एंबेसडर और अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा हैं.

प्रियंका चोपड़ा सोमवार को यूनिसेफ की शांति दूत की हैसियत से बांग्लादेश के रोहिंग्या कैंप गई थीं. वहां उन्होंने रोहिंग्या से मुलाकात की. इस मुलाकात की फोटो उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी शेयर की थी. साथ में एक भावुक पोस्ट भी लिखा था.

I’m in Cox’s Bazar, Bangladesh today for a field visit with UNICEF, to one of the largest refugee camps in the world. In the second half of 2017, the world saw horrific images of ethnic cleansing from the Rakhine State of Myanmar(Burma). This violence drove nearly 700,000 Rohingya across the border into Bangladesh - 60% are children! Many months later they are still highly vulnerable, living in overcrowded camps with no idea when or where they will ever belong...even worse, when they will get their next meal. AND...as they finally start to settle and feel a sense of safety, monsoon season looms...threatening to destroy all that they’ve built so far. This is an entire generation of children that have no future in sight. Through their smiles I could see the vacancy in their eyes. These children are at the forefront of this humanitarian crisis, and they desperately need our help. The world needs to care. We need to care. These kids are our future. Pls Lend your support at www.supportunicef.org #ChildrenUprooted @unicef @unicefbangladesh Credit: @briansokol @hhhtravels

A post shared by Priyanka Chopra (@priyankachopra) on

प्रियंका का यह दौरा विनय कटियार को बिल्कुल रास नहीं आया. लिहाजा उन्होंने नसीहत देने देर भी नहीं की. ANI से बातचीत में कटियार ने कहा, 'प्रियंका चोपड़ा रोहिंग्या की हकीकत नहीं जानतीं. उन्हें रोहिंग्या शरणार्थियों से नहीं मिलना चाहिए था.' कटियार ने आगे कहा कि रोहिंग्यां शरणार्थियों को इस देश में रहने की अनुमति नहीं देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जो लोग उनसे हमदर्दी रखते हैं, उन्हें भी इस देश में रहने की अनुमति नहीं देनी चाहिए.

Vinay-Katiyar2-1

इतना ही प्रियंका के दौरे के बाद कई लोग उनसे सोशल मीडिया पर तीखे सवाल कर रहे हैं. लोगों का सवाल है कि वे जब दिल्ली आती हैं तो कश्मीरी पंडितों से मिलने क्यों नहीं जातीं.

रोहिंग्या विद्रोहियों ने 90 हिंदुओं का कत्ल किया था: एमनेस्टी

उधर मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि म्यांमार के रखाइन प्रांत में पिछले साल हुई हिंसा के दौरान रोहिंग्या विद्रोहियों ने गांव में रहने वाले हिंदुओं का कत्लेआम किया था. उस वक्त तकरीबन 90 रोहिंग्या को मारा गया था. एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बुधवार को प्रांत में हुई नस्लीय हिंसा के बारे में यह खुलासा किया है.

मानवाधिकार संगठन की रिपोर्ट में कहा गया है कि नरसंहार 25 अगस्त 2017 को हुआ था. यह वही दिन था जिस दिन रोहिंग्या ने पुलिस चौकियों पर हमले किए थे. इसके बाद राज्य में संकट शुरू हुआ था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi