S M L

कश्मीर को स्पेशल दर्जा देने वाला अनुच्छेद 'पवित्र गाय' नहीं है : बीजेपी

कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती के बयान पर बेहद नाराज है बीजेपी

FP Staff Updated On: Jul 29, 2017 10:49 PM IST

0
कश्मीर को स्पेशल दर्जा देने वाला अनुच्छेद 'पवित्र गाय' नहीं है : बीजेपी

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती की तिरंगे पर की गई टिप्पणी पर हैरानी प्रकट करते हुए भाजपा ने साफ किया कि राज्य को खास दर्जा प्रदान करने वाला संविधान का अनुच्छेद 35 ए 'पवित्र गाय नहीं है जिसे छुआ नहीं जा सकता.'

भाजपा की राज्य इकाई ने कहा कि पार्टी पीडीपी के साथ गठबंधन के एजेंडा के पक्ष में खड़ी है और मौजूदा संवैधानिक रूख के बदलाव की मांग नहीं करती, साथ ही यह भी सत्य है कि अनुच्छेद 35-ए कानून के किसी अन्य प्रावधान से ज्यादा राज्य के लिए नुकसानदेह है.

पार्टी ने कहा कि राज्य के सामने सबसे बड़ी चुनौती कश्मीरी संस्कृति के सूफी मूल्यों की रक्षा करना है, जो कि घाटी में अलगावाद और इस्लामिक कट्टरपंथियों से हमला झेल रही है.

पार्टी ने कहा कि राज्य सरकार और कश्मीरी लोगों को अनुच्छेद 35-ए और अनुच्छेद 370 के मुद्दों को उठाने की बजाए इन मानवीय मूल्यों और पहचान की रक्षा की दिशा में प्रयास करना चाहिए.

भाजपा के राज्य प्रवक्ता वीरेंद्र गुप्ता ने संवाददाताओं से कहा, 'हम महबूबा के बयान से हैरान और अचंभित हैं कि जिसमे उन्होने कहा अनुच्छेद 35 ए को चुनौती देने से घाटी में राष्ट्रवादी ताकतें कमजोरी होगी और राज्य में भारत का तिरंगा उठाने वाला नहीं मिलेगा.'

उन्होंने आगे कहा, 'अनुच्छेद 370 को अस्थायी प्रावधान के तौर पर भारतीय संविधान में शामिल किया गया है. यह (अनुच्छेद 35 ए और अनुच्छेद 370) पवित्र गाय नहीं है कि छुआ नहीं जा सकता.'

कल महबूबा ने नयी दिल्ली में एक कार्यक्रम में कहा था की अगर कश्मीर को विशेष दर्ज़ा देने वाले अनुच्छेद में कोई बदलाव किया गया तो कोई भी भारत का राष्ट्रीय ध्वज थामने वाला यहां नहीं होगा.' राज्य भाजपा के मुख्य प्रवक्ता सुनील सेठी ने कहा कि अनुच्छेद 35 ए पर मुख्यमंत्री की टिप्पणी सही तस्वीर नहीं दिखाती और राजनीतिक रूप से यह गलत है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi