S M L

रेलवे स्टेशन पर नक्सली हमला, अगवा ASM बोले- मुझे मार डालेंगे

नक्सलियों ने देर रात करीब 11.30 बजे स्टेशन पर धावा बोला और रेलकर्मियों को अगवा करने के साथ सिग्नलिंग पैनल भी फूंक दिया

Updated On: Dec 20, 2017 12:03 PM IST

FP Staff

0
रेलवे स्टेशन पर नक्सली हमला, अगवा ASM बोले- मुझे मार डालेंगे

बिहार के मुंगेर जिले में नक्सलियों ने मंगलवार देर रात जमालपुर-किऊल रेलखंड में स्थित मसूदन रेलवे स्टेशन पर हमला कर दिया. हमले में नक्सलियों ने रेलवे स्टेशन में आग लगा दी और 5 रेल कर्मियों को अगवा भी कर लिया.

अगवा हुए कर्मचारियों में असिस्टेंट स्टेशन मास्टर और गया जमालपुर पैसेंजर ट्रेन का लोको पायलट (ट्रेन ड्राइवर) शामिल हैं. नक्सलियों ने ट्रेन ड्राइवर से जबरदस्ती कर मालदा के डीआरएम को फोन करवाया है. नक्सली गया-हावड़ा ट्रेन रूट पर ट्रेनें नहीं चलाने की डिमांड कर रहे हैं.

नक्सलियों ने 24 घंटे का बिहार और झारखंड बंद का ऐलान किया था. नक्सलियों के बंद का ऐलान सरकार द्वारा चलाए जा रहे ग्रीन हंट ऑपरेशन के खिलाफ है. इस ऑपरेशन के जरिए इस इलाके में नक्सलियों का सफाया किया जा रहा है.

इस बंद के दौरान कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (माओवादी) के हथियारबंद कार्यकर्ता इकट्ठा हुए. इनलोगों ने मसूदन रेलवे स्टेशन पर हमला कर दिया. नक्सलियों ने असिस्टेंट स्टेशन मास्टर मुकेश कुमार. पोर्टर निरेन्द्र मंडल, ड्राइवर, असिस्टेंट ड्राइवर और गार्ड को अगवा कर लिया.

लखीसराय के एसपी अरविंद पांडे इस इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं और नक्सलियों की गिरफ्त से अगवा हुए रेल कर्मचारियों को छुड़ाने कि कोशिश की जा रही है.

पूर्वी रेलवे के सीपीआरो राजेश कुमार ने बताया कि पूर्वी रेलवे ने मालदा डिविजन के किऊल-जमालपुर-भागलपुर सेक्शन में तीन ट्रेनों को रोक दिया है. किऊल प्वाइंट पर एक बार फिर सुविधाएं रोक दी गई हैं.

इस बारे में पूछे जाने पर मुंगेर के रेल एसपी शंकर झा ने बताया कि नक्सली हमले की खबर मिलते ही रेल अधिकारी मौके पर पहुंच गए और इन अगवा कर्मियों को छुड़ाने की कोशिश की जा रही है. नक्सलियों द्वारा अगवा कर्मियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इनमें मसूदन स्टेशन के एएसएम मुकेश कुमार और पोर्टर निरेंद्र मंडल शामिल हैं.

पूर्वी रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने न्यूज 18 को बताया है कि इस हमले के बाद कई स्टेशनों पर ट्रेनों की आवाजाही रोक दी गई है. रोकी गई ट्रेनों में 13242 बांका एक्सप्रेस (बड़हिया स्टेशन पर रुकी है ) , 13414 फरक्का एक्सप्रेस और 13420 मुजफ्फरपुर भागलपुर जनसेवा एक्सप्रेस किऊल में और 53042 जयनगर हावड़ा पैसेंजर ट्रेन समिरिया में रुकी है.

बिहार के इस नक्सल प्रभावित इलाके में पहले ही हमले का अलर्ट जारी कर पुलिस और सुरक्षा बलों को चौकस रहने को कहा गया था. ऐसे में यह हमला पुलिस और प्रशासन की तरफ से बड़ी चूक की ओर इशारा करती है.

नक्सलियों के बुलाए बंद के दौरान हुई हिंसा की एक और घटना में लखीसराय के चानन पुलिस स्टेशन में संग्रामपुर पंचायत के डिप्टी मुखिया की हत्या कर दी गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi