S M L

बाढ़ में फंसे लोगों को राहत ना मिली तो जला दूंगा सरकारी ऑफिस: कीर्ति आजाद

अधिकारी कीर्ति आज़ाद के गुस्से के शिकार हो रहे थे और अपने आप को जलील भी होता महसूस कर रहे थे

Updated On: Aug 24, 2017 07:49 PM IST

FP Staff

0
बाढ़ में फंसे लोगों को राहत ना मिली तो जला दूंगा सरकारी ऑफिस: कीर्ति आजाद

बिहार के दरभंगा से बीजेपी के सांसद कीर्ति आज़ाद ने धमकी दी है कि अगर बाढ़ राहत में कोताही बरती गई तो वह अपने हाथों से ही लंका की तरह पूरे प्रखंड कार्यालय को जला दूंगा. बाढ़ का कहर झेल रहे लोगों से कीर्ति मिलने पहुंचे तो उनका गुस्सा इस कदर था कि वो अपनी मर्यादा तक भूल गये.

उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में अधिकारियों को जम कर कोसा. कीर्ति ने कहा कि अगर बाढ़ पीड़ितों के पुनर्वास का काम सही से नहीं हुआ तो अधिकारियों के सिर गंजा और बदन को नंगा कर के उन्हें गधे पर बिठा कर घुमाया जाएगा.

खबर यह भी आई कि कीर्ति आजाद को बाढ़ पीड़ित गुस्साई भीड़ ने खदेड़ा जिसके बाद उन्होंने खुद को ब्लॉक ऑफिस में बंद कर अपनी जान बचाई.

कीर्ति आज़ाद ने सबसे ज्यादा खरी-खोटी अपने साथ चल रहे एसडीओ मोहम्मद रफीक को सुनाई और सार्वजनिक तौर पर जलील किया. कीर्ति आज़ाद ने अधिकारियों के ऊपर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार में दो फसल होती है एक खरीफ जो किसान उगाता है दूसरा रिलीफ जो अधिकारी खा जाते हैं.

कीर्ति आजाद घनश्यामपुर प्रखंड पहुंचे थे

दरअसल सांसद कीर्ति आज़ाद ने दरभंगा पहुंचते ही बाढ़ग्रस्त इलाकों में तूफानी दौरा शुरू कर दिया. अपने दौरे में कीर्ति आज़ाद दरभंगा के घनश्यामपुर प्रखंड पहुंचे और इलाके के पूरे प्रशासनिक अमले के साथ बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंचे जहां बाढ़ पीड़ितों की समस्या को सुना और साथ चल रहे अधिकारियों को निर्देश भी दिया.

अधिकारी कीर्ति आज़ाद के गुस्से के शिकार हो रहे थे और अपने आप को जलील भी होता महसूस कर रहे थे. कीर्ति आज़ाद की मानें तो ये अधिकारी ठीक से काम नहीं करते इस कारण जनता की गाली उनको सुननी पड़ती है और अधिकारी सिर्फ पैसे कमाने में लगे रहते हैं.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi